साहित्य

प्रतिनिधि हो गई हूं अपने वंश की

प्रतिनिधि हो गई हूं अपने वंश की

कहीं गए नहीं बाबा मेरे
शामिल हो गए मेरे अस्तित्व में
रूढ़ियों की ख़िलाफत बन कर
खोया नहीं था मैंने मां को
वह मुझमें ही समा गईं थीं
स्नेह बन कर
खोया नहीं था मैंने...Read More »


खेत और पेट के लिए पानी नही वहां स्वीमिंगपूल क्यों?

वरिष्ठ पत्रकार अलीम सिद्दीकी का पानी की ज्वलन्त समस्या पर विचारणीय आलेख
**अलीम**
गर्मी शुरू होते ही कुदरत का कहर शुरू हो गया। पारा 50℃ छूने को आमादा है । तो पानी के उपकरण साथ छोड़ने को बेकरार है। हम लोग कुदरत के इस...Read More »


जिलापंचायत अध्यक्षा अब बीजेपी में....

वरिष्ठ पत्रकार अलीम सिद्दीकी का आलेख
2016 में फरहनाज के जिला पंचायत अध्यक्षा की शपथ लेने के मात्र 23 दिन के बाद अध्यक्षा का अचानक उनका निधन हो गया उनके निधन के कुछ दिन गुजरे ही थे कि स्वर्गीय अध्यक्षा के परिवार सहित सारे राजनैतिक दल...Read More »


मूर्छित पड़ी काँग्रेस को खड़ी के साथ बड़ी करने के इरादे

वरिष्ठ पत्रकार अलीम सिद्दीकी की बेवाक कलम
‘‘अलीम’’
प्रियंका के राष्ट्रीय महासचिव बनते ही तरह तरह की आवाजें राजनैतिक गलियारों में गूंज रही है धुरविरोधियों का कहना है कि 28 सालों से उत्तरप्रदेश में सत्ता से बंचित काँग्रेस ने प्रियंका बाड्रा गांधी नाम का...Read More »


काँग्रेस इतनी मजबूर कैसे हो गई ?

वरिष्ठ पत्रकार अलीम सिद्दीकी
‘‘‘‘अलीम’’’’
कांग्रेस का सत्ता का सफर आजादी के बाद से दशकों तक चलता रहा। कुछ प्रदेश छोड़ दें तो पूरब से पश्चिम उत्तर से दक्षिण तक कांग्रेस का सिक्का चलता था। प्रधानमंत्री के कार्यालय से लेकर सेवादल की शाखा...Read More »


कम्बल खामोशी से भी दिया जा सकता था.......

वरिष्ठ पत्रकार अलीम सिद्दीकी का ज्वलन्त सवाल
 ‘‘अलीम’’
असल मे दान का कोई समय निश्चित नही है। सर्दी, गर्मी, बरसात हर समय निर्धन, लाचार, लावारिस, की मदद करनी चाहिए ये पुण्य का काम है जो दुनिया का हर धर्म कहता है। सर्दी चल...Read More »


क्या चुनाव जीतने की अनिवार्यता है धर्म ?

वरिष्ठ पत्रकार अलीम सिद्दीकी की आज की राजनीति पर गहरी चोट
‘‘अलीम’’
बीते दिनों कांग्रेस ने तीन राज्यों में सरकार बना ली। मेहनत का फल था या धर्म के उपयोग की पराकाष्ठा ये समझना पड़ेगा। कांग्रेस जीत के बाद सोशल मीडिया में...Read More »


सब का उत्सव जालौन महोत्सव

वरिष्ठ पत्रकार अलीम सिद्दीकी की कलम
‘‘अलीम’’
जनपदवासी 12 दिनों तक महोत्सव में बुन्देलखण्ड की जमीन और संस्कृति से जुड़ी विभिन्न कलाओं का आनंद लेते रहे। इस आयोजन को सफल बनाने में प्रशासन ने पूरी ताकत झोंक दी। महोत्सव की सफलता का अंदाज इस...Read More »


कितनी दुर्गति सहती गईया.............

आज के समय की ज्वलन्त समस्या ‘अन्ना प्रथा’ पर गहरी चोट करती हुई कन्हैया की गइया की व्यथा। भूखे प्यासे घूम रहे गौवंश का यथार्थ चित्रण करतीं हुईं काव्य पंक्तियां।

कितनी दुर्गति सहती गईया………….

हे कृष्ण तुम्हारी धरती पर...Read More »


क्या ये प्रतिभाए ऐसे ही गुमनामी में जीती रहेंगी

***अलीम***
*इन प्रतिभाओ को कब तराशा जाएगा।
*क्या जो पीछे होता रहा वो आगे भी जारी रहेगा?
*तो हम लोग नया कर क्या रहे है।
कल सड़क के किनारे एक खेल देख रहा था। 15 से 20 लोगो का मज़मा...Read More »


ये कब तक चलेगा........

वरिष्ठ पत्रकार अलीम सिद्दीकी की कलम

**अलीम***
हम शिक्षित हो गए सभ्य हो गए जल्दी ही दुनिया में महाशक्ति वाले देशों के साथ खड़े होने वाले हैं। लेकिन हमारे समाज की सोच का दायरा वही है जहां था।समाजिक संरचना में दहेज...Read More »


ये किस मानसिकता का द्योतक है...

वरिष्ठ पत्रकार अलीम सिद्दीकी की गहरी सोच
‘‘अलीम’’
हाल ही में दिल्ली के एक सरकारी स्कूल में दो सम्प्रदाय के मासूमों को क्लासों में बांट दिया गया। सुनने में ये बात छोटी लगती है लेकिन इस मानसिकता के दूरगामी परिणाम ठीक नहीं हैं।...Read More »


कृष्णा न्यूज़ की सफलता

कृष्णा न्यूज़ की सटीक खबरों से तथा आपके अपार स्नेह के बाद कृष्णा न्यूज़ एक और कदम कृष्णा मेल अब अखबार के रूप में भी अब आपके हाथो में

...Read More »

प्रेम में भूल कोई कोई हो जाये न

...Read More »

भारत

Share Button

भारत
हमनें केऊ बेर पूंछी भइया को हो तुम
वो कछू न बोलो
एनईं दुनियां कीं बातें करीं
तोऊ बानें मों न खोलो
हमनें कई के तो जो आदमी हैगो
निराट बहरो
के फिर जाके मन पै लग गओ
सदमां कौनऊं गहरोRead More »


भस्मासुर वरदान

वोट हमारा कीमती
इसका रखना ध्यान।
मन में दृढ़ निश्चय करो
करना है मतदान।।
किन्तु करें हम सोच कर
अपने मत का दान।
धोखे में पा जाये न
भस्मासुर वरदान।।
निर्णय का क्षण आ गया
निर्णय लो दो टूक।
वरना हम पछतायेंगे
कर छोटी सी चूक।।

सिद्धार्थ त्रिपाठी
कृष्णा न्यूज, राठ...Read More »


‘संवेदना’ द्वारा बीते वर्ष की विदाई एवं नव वर्ष का अभिनन्दन

*भजन संध्या में बही भक्ति की अविरल धारा
*संस्था का उद्देश्य प्रतिभाओं का प्रोत्साहन एवं प्रकाश में लाना- डॉ माया
उरई। 26 दिसम्बर। आज विगत वर्ष की विदाई एवं नूतन वर्ष के अभिनन्दन में साहित्यक एवं सामाजिक संस्था ‘संवेदना’ द्वारा आयोजित भजन संध्या में...Read More »


‘माँ तेरी असमर्थ है’

Share Button

माँ कोख में ही क्यों मुझे तुम मिटा देतीं भला।
ढूंढा़ बहुत ढूंढा़ बहुत कोई नहीं कारण मिला।।
तुम ही बता दो माँ मेरी यदि जन्म न लें बेटियां।
व्यर्थ भइया दौज होगी व्यर्थ होंगीं राखियां।।
संसार के सब नेह नातों का हमी आधार हैं।
पुत्री बिना परिवार में सूने...Read More »


उत्तर आपके हाथ में

Share Button

उत्तर आपके हाथ में

वस्त्र के नाम पर
काम-अस्त्र धारण किये बालायें
सड़क पर घूम रहीं थीं।
अपनी ही मस्ती में झूम रहीं थीं
इठला कर उन्मुक्त आसमान
चूम रहीं थीं।।
हमारे सामने था
पाश्चात्य संस्कृति का
साक्षात दर्शन।
आधुनिकता के नाम पर
भारतीय नारी का
अंग प्रदर्शन।।
अनेक...Read More »


अवश्य पढ़ें दीवाली पर खास दीवाली आ गई

दीवाली आ गई
रात काली आ गई
दीवाली आ गई
सामान का पर्चा लेकर
घरवाली आ गई
अजी इधर आना
बाजार से सामान है लाना
पर्चा लिख दिया है
कोई चीज छोड़ न आना
मैने कहा सामान
आना नहीं आसान
मेरी जेब...Read More »


कृष्णा सुविचार

Share Button

संकलितः- पुरुषोत्तम दास गुप्ता

**एक बार भगवान राम और लक्ष्मण एक सरोवर में स्नान के लिए उतरे ।
उतरते समय उन्होंने अपने-अपने धनुष बाहर तट पर गाड़
दिए
जब वे स्नान करके बाहर निकले तो लक्ष्मण ने देखा की उनकी धनुष की नोक पर रक्त...Read More »


ऐ पाक आग से मत खेलो

विस्फोटों की गूंज, मनुज की चीख तुम्हें प्यारी लगती,
आतंकी हमलों की साजिश तुमको खुद्दारी लगती।
आतंकी तुम भेज यहां 26/11 करवाते हो,
मुबई पर साजिश करने वालों को न गुनहगार ठहराते हो।
शस्त्र उठाने के परिणामों का अब तक ज्ञान नहीं पाया
तीन जंग हार के अपनी औकात भी...Read More »


जलता वह कश्मीर

**उरी में सेना मुख्यालय पर आतंकी हमले पर विशेष**


हर क्षण है जीवन का खतरा हर दिल में है पीर।
टूट रहीं हाथों की चूड़ी नयनों में है नीर।।
पता चला न बदल गई कब भारत की तस्वीर ।
जिसको कभी स्वर्ग कहते थे जलता वह कश्मीर।।Read More »


वास्तविक प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी

अपने माननीय प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी को उनके जन्म दिन की बधाई देते हुए कहना चाहते हैं कि पिछले ड़ेढ़ दशक से भारत के प्रधानमन्त्री की कुर्सी पर प्रधानमन्त्री के रूप में मौन मूर्ति विराजमान रही जिसे अपने हाथ पैर हिलाने के लिये भी अनुमति की जरूरत रहती थी किन्तु अब...Read More »


हम फिर आपके साथ होंगे।

Share Button

बेबसाइट की खराबी के कारण आज कृष्णा न्यूज आपका साथ नहीं दे पा रही है। आशा है आप क्षमा करेंगे।
समस्या के समाधान के साथ ही हम फिर आपके साथ होंगे।

...Read More »

केन्द्र सरकार से एक प्रश्न क्या बन सकते हैं एक व्यक्ति के दो आधार अगर नही तो कैसे बने ?

img142 copyaaaaaaaaaaaaaaaaaa

0 क्या यही है आम आदमी का अधिकार-एक व्यक्ति दो आधार
0 आधार की विश्वसनीयता निराधार कार्यदायी संस्था कटघरे में
उरई । एक लम्बा समय हुआ जा रहा है जबसे हम बराबर सुन रहे हैं आपने भी सुना होेगा आधारकार्ड
इसके बाद आरम्भ हुआ...Read More »


भेजिये अपनी रचना हमारे gmail [email protected] खोलिये कृष्णा न्यूज और पढ़ें व पढ़ायें अपनी बात

Share Button

भेजिये अपनी रचना हमारे gmail  [email protected]  खोलिये कृष्णा न्यूज और पढ़ें व पढ़ायें अपनी बात साहित्य कविता, शायरी, गजल, लेख, लघु कथा, मनोरंजन- स्तरीय चुटकले, हास्य, व्यंग्य, मन की बात, आंखों देखी, बात जो मन में खटकी आदि तो फिर खोलिये हमारा

अब तस्वीर बदलेगी यह तक़दीर बदलेगी,
मुक़द्दर के शहज़ादों मेरी तद्वीर बदलेगी
आज जो लाचारी छाई उससे मैं पार पाऊँगा
निकलकर आज मैं रण में तुम्हें ताक़त दिखाऊंगा
लिखा था जो पुरातन में उसे मैं फिर दोहराऊंगा
खड़ग ले आज हाथों में नया इतिहास बनाऊंगा
निरंकुश इस शासन...Read More »


Share Button