विद्युत विभाग ने शिविर लगाकर 4 लाख 80 हजार वसूले

**6नये कनेक्शन 4 मीटर लगाये 15 कनेक्शन काटे
कोंच;जालौनद्ध।विद्युत उपभोक्ताओं की समस्याओं के निराकरण के लिये चन्दकुआं पावरहाऊस पर लगाया गया समस्या निराकरण शिविर जिसमें 6 नयेसंयोजन हुये व 4 मीटर लगाये गये 15 कनेक्शन विच्छेद किये गये चारलाख अस्सी हजार की रकम वसूली गयी। उपभोक्ताओं में कोई खास समस्याग्रस्त नहीं दिखे अधिकारी भी कभी व्यस्त तो कभी खाली बैठे नजर आयेउपभोक्ताओं की संख्या भी कुछ खास नजर नहीं आयी कारण जो भी रहाहो जहॉ तक प्रचार प्रसार की बात है तो विभाग द्वारा समाचार पत्रो केमाध्यम से व नगर में एनाउंस मेन्ट कराकर प्रचार प्रसार कराया था। जिले सेआयी टीम ने भी उपभोक्ताओं की जटिल समस्याओं का निराकरण किया तोस्थानीय अधिकारियो ने एक एक बिन्दु पर विद्युत उपभोक्ताओं को सुना।इस विद्युत समस्या निराकरण शिविर में उरई से वरिष्ठ लिपिकआई.ए. अंसारी मनमोहन सिंह भदौरिया उपखण्ड अधिकारी कौशलेन्द्रसिंह अवर अभियंता अमित कुमार शर्मा संजय कुमार अमित साहू राजीवगौतम अशोका वर्मा सूरज कुशवाहा उज्जवल तिवारी इरशादअहमद प्रदीप शर्मा रिंकू आदि उपस्थित रहे।

Share Button

कार्यकत्रियों पर दमनात्मक कार्यवाही न होगी बर्दाश्तः- अनीसा

30sep2016-3khकदौरा में धरना देती आंगनबाड़ी कार्यकत्रियां।

**मांगे पूरी न होने तक धरना, प्रदर्शन नहीं होगा खत्म

उरई(जालौन)।विगतदो सितंबर से मानदेय बढ़ाने सहित कई मांगों को लेकर आंदोलनरतआंगनबाड़ी कार्यकत्रियों पर 27 सितंबर को लखनऊ में हुये धरनाप्रदर्शन के दौरान किये गये लाठी चार्ज पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्तकरते हुये महिला आंगनबाड़ी कर्मचारी संघ की प्रदेशीय संगठन मंत्रीअनीसा खातून ने साफ शब्दों में कहा कि कार्यकत्रियों पर इस तरह कीदमनात्मक कार्यवाही किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं की जायेगी साथ हीजब तक उनकी मांगे पूरी नहीं होती धरना प्रदर्शन का क्रम इसी तरहसे जारी रहेगा।

आंदोलन के रास्ते पर आगे बढ़ चुकी आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों ने आज शुक्रवारको भी कलेक्ट्रेट में धरना प्रदर्शन करते हुये अपने तेवरदिखाते हुये नारेबाजी की। इसके बाद प्रभारी जिला कार्यक्रम अधिकारी कोसंबोधित ज्ञापन सौंपा गया जिसमें कहा गया कि हम सभी आंगनबाड़ीबहिनों ने 2 सितंबर से लगातार हड़ताल करके रैली प्रदर्शन करती चलीआ रहे है लेकिन हमारे दर्द को शासन, प्रशासन ने समझनेका प्रयास नहीं किया। इतना ही नहीं जब हम बहिनें 27 सितंबर को मांगोंको लेकर लखनऊ में धरना प्रदर्शन किया तो वहां मांगों परसहानुभूति पूर्वक विचार करना तो दूर उल्टा बल प्रयोग कर आंगनबाड़ीकार्यकत्रियों पर लाठी चार्ज करवा दिया जिसमें दर्जन भर कार्यकत्रियां घायलहो गयी जिनका उपचार आज भी चल रहा है। डीपीओ को दिये गये ज्ञापन मेंकहा गया कि जब तक हमारी मांगे पूरी नहीं होती तब तक धरना प्रदर्शनभी खत्म नहीं किया जयोगा न ही केंद्रों का संचालन होगा और नपोषाहार का उठान किया जायेगा। इस दौरान रामश्री, ममता, रजीन,रक्षा राजपूत, उर्मिला, भगवती, माया, रामजानकी, रानी, रेशमाखातून, ऊषा, ममता सिंह, राधा, देवकुंवर, रेवती, नीलम,शांती, विमला, रेखा अवस्थी, नीलम पांडेय, अनुराधा, राजेश्वरी,माया निरंजन, चंद्रमुखी, किरन, गीता, गार्गी चतुर्वेदी, कमलेशकुमारी, मीरा, अखिलेश कुमारी, राधा सहित अनेकों कार्यकत्रियांउपस्थित रहीं।

इसीक्रममें कदौरा परियोजना की आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों ने ब्लाक अध्यक्ष नफीसजहां के नेतृत्व में प्रदेश सरकार द्वारा हाल ही में बढ़ाये गयेमामूली मानदेय को नामंजूर करते हुये कहा कि प्रदेश सरकार हमआंगनबाड़ी कार्यकत्रियों की दयनीय स्थिति को देखकर मानदेय बढ़ाने केकिये गये आदेशों में संशोधन कर मानदेय का पुनःनिर्धारण किया जाये ताकि वह प्रदेश में कुपोषण के विरुद्धचलाये जा रहे अभियान में अपना सहयोग कर सके। इस दौरान अंदू वर्मा,मंजू, ऊषा, पुष्पा राठौर, रशिम त्रिपाठी,लक्ष्मीबाई, भारती, पूर्णिमा सिंह, अर्चना, रीना साहू, रेखा, राधा सहित अनेकों कार्यकत्रियों ने सीडीपीओ कार्यालय के बाहर धरना देकर मांगोंके समर्थन में नारेबाजी की।

 

 

 

Share Button

साहब यदि मेरी हत्या हो जाये………………

**नजूल की जमीन पर कब्जा करने वाले बेटे बने पिता के दुश्मन
उरई(जालौन)। साहब यदि मेरी हत्या हो जाये तो उसके लिये मेरे पांचों बेटों को ही जिम्मेदार मानकर उन पर कार्यवाही की जाये। उक्त बात मोहल्ला लहरिया पुरवा उरई निवासी 100 वर्षीय रामकिशन ने पुलिस अधीक्षक को भेजे गये रिजस्टर्ड शिकायती पत्र में कही।

रामकिशन पुत्र लल्लू कुशवाहा द्वारा पुलिस अधीक्षक सहित आला अधिकारियों को भेजे गये शिकायती पत्र में स्पष्ट रूप से कहा है कि खसरा नंबर445 नजूल की जमीन है। उस पर न तो मेरा कभी कब्जा रहा है और न ही आज मेरा कब्जा हैं। लेकिन मेरे पुत्र कालका, श्याम सुंदर, गुरदयाल,रविन्द्र व अरविंद उक्त नजूल की जमीन पर अपना कब्जा होना प्रचारित कर उसकी बिक्री करने के प्रयासों में जुटे हुये हैं। मेरे ही पुत्र आये दिन मुझे जानमाल की धमकी देकर हत्या करने की भी धमकी देते हैं। यदि मेरी हत्या हो जाये तो उसका जिम्मेदार मेरे पुत्रों को समझा जाये और उन पर ही कानूनी कार्यवाही की जाये। वृद्ध का कहना था कि न तो अनपढ़ है और नही पागल है अपना अच्छा बुरा अच्छी तरह से समझता है। रामकिशुन ने आला अधिकारियों को भेजे गये शिकायती पत्र में इस बात का भी उल्लेख किया कि खसरा नंबर 445/1 जमीन 18 डिसमिल उसके तीनों भाइयोंके नाम है। लेकिन मेरी फोटो लगाकर 445/2 पर कब्जा कालका एवं 445/3 परकब्जा श्याम सुंदर अरविंद व रविन्द ने कर लिया है जबकि उक्त जमीन मेरी न हीं है।

Share Button

मांगे पूरी होने तक जारी रहेगा इंजीनियर्स संघ का आंदोलन

उरई(जालौन)। उप्र डिप्लोमा इंजीनियर्स महासंघ के प्रांतीय आवाहन पर कार्य बहिष्कार के चौथे दिन आज जिले के सभी 24 घटक संघों के जूनियर इंजीनियर्स लोक निर्माण विभाग के परिसर में कार्य बहिष्कार पर डटे रहे। कार्य बहिष्कार आंदोलन की अध्यक्षता इंजीनियर वीर सिंह यादव ने की एवं संचालन सुनील कुमार कटियार ने किया।

कार्य बहिष्कार आंदोलन को संबोधित करते हुये राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के जिलाध्यक्ष इंजीनियर रामप्रसाद श्रीवास्तव ने कहा कि 4800ग्रेड पे की मांग प्रदेश सरकार द्वारा स्वीकार नहीं की जाती तो परिषद अपने सभी संगठनों का सहयोग लेना सुनिश्चित करेगी।इंजीनियर राधेश्याम सिंह ने कहा कि 4800 ग्रेड पे जब तक नहीं मिल जाता तब तक संघर्ष जारी रहेगा। पीएस निरंजन ने कहा कि तीनप्रोन्नतियां लेकर रहेंगे चाहे इसके लिये जेल ही क्यों न जाना पड़े। इंजीनियर जर्नादन राजपूत ने संघ के संघटनात्मक संरचना पर जोर देते हुये कहा कि प्रांतीय नेतृत्व के आवाहन पर 4800 ग्रेड पे लिये बगैर आंदोलन समाप्त नहीं किया जायेगा। इस दौरान मंडल उपाध्यक्ष शफी उल्ला ने हड़ताल की समीक्षा करते हुये बताया कि प्रदेश में हड़ताल से व्यवस्था चरमरा गयी और विकास कार्य प्रभावित हो रहे हैं। प्रांतीय खंडलोक निर्माण विभाग परिसर में चल रहे धरना प्रदर्शन को संबोधित करते हुये संघर्ष समिति के चेयरमैन केसी त्रिपाठी ने कहा कि संवर्ग की न्यायोचित मांगें मुख्यतः ग्रेड पे 4800 रुपये के साथ 7, 14,20 वर्ष सेवा पर प्रोन्नत वेतनमान पर जोर दिया एवं हड़ताल में शतप्रतिशत भागीदारी का आवाहन किया। धरना सभा में इंजीनियर पीके मोहना, देवीदयाल, आरके द्विवेदी, बृजेंद्र शाक्यवार, एमपी पस्तोर,रामकुमार पटैरिया, संतोष अग्रवाल, विजय बहादुर, राजेंद्र बाबू, रामदास, रामप्रकाश, प्रेमशंकर, राहुल माली आदि उपस्थित रहे।

Share Button

वरिष्ठ जनों ने भारतीय सेना के शौर्य को किया सलाम

उरई(जालौन)। वरिष्ठ नागरिक व गवर्नमेंट पेंश्नर्स संगठनों की संयुक्त बैठक संगठन के संरक्षक रामेश्वर प्रसाद त्रिपाठी की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट परिसर स्थित पेंशनर्स कार्यालय में आहूत हुयी जिसमें सभी वरिष्ठ जनों ने पिछले दिनों भारतीय सेना द्वारा जिस दिलेरी से सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम देकर 40 आतंकवादियां को मौत के घाट उतारने के मिशनको सफल बनाया है उससे सभी ने भारतीय सेना को सलाम किया।
बैठक में डा. प्रयाग नारायण त्रिपाठी, राजेंद्र सिंह निरंजन, एम एल वर्मा, राजाराम व्यास, सत्यनारायण अग्निहोत्री ने कहा कि पिछले दिनों पाकिस्तान परस्त आतंकवादियों ने हमारे 18 सैनिकों के शहीद होने के बदले में भारतीय सेना ने बगैर किसी नुकसान से पाकिस्तान की सीमा में घुसकर 40 आतंकवादियों को ठिकाने लगाकर उनके बंकर नष्ट करके जो साहस व शौर्य का परिचय दिया है। जनपदीय वरिष्ठजन सेना के इस शौर्य को प्रणाम करते हैं। उदयवीर सिंह सेंगर, राजेंद्र श्रीवास्तव, प्रताप सिंह यादव, माताप्रसाद, राजाराम राठौर ने कहा कि मोदी सरकार द्वारा किये गये पाकिस्तानी आतंकवादियों को खत्म करने के निर्णय में जिस तरह से सभी विपक्षी पार्टियों ने एक स्वर से भारतीयों व भारतीय सेना का साथ देने में एकता दिखायी है हम सभी भारतीय नागरिक उनके व्यक्तित्व की व भारतीय लोकतंत्र की सराहना करते हैं। बैठक के अंत में संरक्षक रामेश्वरप्रसाद त्रिपाठी, अध्यक्ष प्रयाग नारायण त्रिपाठी ने संयुक्त रूप से पिछले दिनों आतंकी हमले में शहीद हुये जवानों के प्रति श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुये कहा कि आतंकवादियों के खात्मे की पटकथा लिखने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री राजनाथ सिंह, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, रक्षा मंत्री मनोहर पारिकर, सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल व जनरल सुहाग के प्रति आभार व्यक्त करते हुये उनके साहस व धैर्य पूर्वक निर्णय की प्रशंसा की।

Share Button

मेहमान मछलियों की परासन में खत्म होती जा रही आमद,

30orai03k**मेहमान मछलियों की परासन में खत्म होती जा रही आमद
उरई। पिछले पांच वर्षों से कदौरा क्षेत्र के परासन तट पर बेतवा में नवरात्रि के पूर्व के पखवारे में आने वाली मेहमान मछलियों की तादाद लगातार घट रही है। लोगों ने प्रवासी मछलियों के आने के समय को अपनी धार्मिक आस्था से जोड़ लिया था। जिसकी वजह से क्षेत्र के ही नही देश प्रदेश के कई हिस्सों से लोग इन मछलियों को आटा खिलाकर पुण्य कमाने के लिए इस सीजन में परासन पहुंचते थे लेकिन मछलियों की कम होती जा रही आमद परासन के श्रद्धालुओं में आकर्षण के फीके होते जाने का कारण बन गया है।
आज से डेढ़-दो दशक पहले क्वांर के पहले पखवारे में परासन घाट पर प्रवासी मछलियां प्रकट होती थीं जो आकार में आदमकद तक रहती थीं। ऋतु बदलने के साथ प्रवासी जीव-जंतुओं का अपने इलाका छोड़कर अनुकूल इलाके में पहुंच जाने का सिलसिला प्राकृतिक विलक्षणता की एक आम विशेषता है। लेकिन परासन में प्रवासी मछलियों के आने के पीछे कोई वैज्ञानिक कारण नही खोजे गये। चूंकि यह मछलियां संयोग से पितृ पक्ष में देखी जाती थीं। इसलिए लोगों ने इन्हें अपने पुरखों के दर्शन के रूप में शुरू कर दिया। इन मछलियों के शिकार पर धार्मिक कारण की वजह से निषेध लागू हो गया। इसकी बजाय लोगों ने अलसबेरे पितृ पक्ष में परासन पहुंचकर इन मछलियों को आटा चुगाने की रवायत बना ली।
मछलियां भी इसके चलते श्रद्धालुओं के प्रति दोस्ताना रवैया रखने लगीं। बेतवा में घुसकर श्रद्धालु जब आटे की गोलियां चुगाने के लिए मछलियों की ओर तांकते थे तो मछलियां उछलकर उनके हाथ से आटे की गोलियां ले लेती थीं। इसे बहुत शुभ माना जाता था। मछलियां लोगों के गोद में तक आकर बैठ जाती थीं। जिसे लेकर कई मिथक और किवदंतियां प्रचलित रहीं।
लेकिन बेतवा में मौरंग के अंधाधुंध खनन के दुष्प्रभाव के चलते उत्पन्न हुईं पर्यावरणीय विकृतियों ने इन मछलियों को परासन से दूर कर दिया है। अभी भी कई श्रद्धालु पुरखों के दिनों में मछलियों को आटा चुगाने के लिए परासन आते हैं लेकिन इनकी तादाद अब बहुत कम रह गई है। अब पहले जैसी विशालकाय मछलियों को देखना भी दुर्लभ हो गया है। वास्तविकता तो यह है कि कुछ वर्षों से विरले ही लोग है जिनको मेहमान मछलियां दिख पाती हैं। ज्यादातर लोग नदी में अंधाधुंध आटे की गोलियां फेंककर संतोष कर लेते हैं। परासन की महिमा में लगातार आ रही गिरावट से गांव और क्षेत्र के लोगों की मायूसी बढ़ती जा रही है।

Share Button

प्लाट पर कब्जे को लेकर हुए हमले के आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए डीएम को सौंपा ज्ञापन

उरई। अधिवक्ता मोहम्मद रहूप अंसारी ने जिलाधिकारी को प्रार्थना पत्र देकर गत् 24 सितंबर को फकीर चंद पेट्रोल पंप के पास प्लाट पर कब्जा करने को लेकर उनके भाई अब्दुल रब व नवाज शरीफ पर हमला करने वालों की गिरफ्तारी की मांग की है।
उन्होंने जिलाधिकारी को ध्यान दिलाया कि इस मामले में उनके भाई को जिंदा न छोड़ने की कोशिश की गई थी। दिन दहाड़े की गई इस दबंगी का मुकदमा कोतवाली में 25 सितंबर को जददोजहद के बाद डकैती की धारा में दर्ज तो हो गया लेकिन इसमें नामजद आरोपी प्रभावशाली हैं जिसके कारण कोतवाली पुलिस उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नही कर रही। जबकि वे लोग अभी भी उनके परिवार को धमकियां पहुंचा रहे हैं।
मोहम्मद रहूप ने जिलाधिकारी से गुहार लगाई कि उनकी एफआईआर में नामजद सभी आरोपी गिरफ्तार कराये जायें और उनकी जानमाल की सुरक्षा की जाये जिससे विधि व्यवस्था बहाल रह सके।

Share Button

बीएसए ने दी सहमति

उरई। राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ के जिलाध्यक्ष राजेंद्र राजपूत ने बीएसए के लखनऊ में होने की वजह से उनसे फोन पर बात की जिसमें उन्होंने 2 अक्टूबर को गांधी जयंती के साथ दादा-दादी, नाना-नानी दिवस मनाने की सहमति दे दी है। महासंघ के पदाधिकारियों ने इसे लेकर जिला बेसिक शिक्षाधिकारी का आभारा जताया।

Share Button

पूर्व सेनिकों से 1 अक्टूबर को दिल्ली चलने के अपील

उरई। पूर्व सैनिक आश्रित कल्याण समिति की जनपदीय इकाई के अध्यक्ष सीपी तिवारी ने कहा कि वन पेंशन वन रेंक की मांग को लेकर राष्ट्रीय संघर्ष समिति द्वारा चालाये गये लंबे आंदोलन के कारण इसकी घोषणा तो कर दी गई लेकिन इसे पूरी तरह लागू नही किया जा रहा। 2 अक्टूबर को महात्मा गांधी की जयंती के दिन से राष्ट्रीय संघर्ष समिति नई दिल्ली में जंतर-मंतर पर फिर इसके लिए संघर्ष छेड़नी की शुरूआत करेगी।
उन्होंने कहा कि जनपद के पूर्व सैनिक 2 अक्टूबर को दिल्ली पहुंचने के लिए 1 अक्टूबर को अधिक से अधिक संख्या में स्थानीय रेलवे स्टेशन पर पहुंचे। उन्होंने कहा कि नई दिल्ली में जनपद के पूर्व सैनिकों की तादाद इतनी अधिक हो कि सारे देश में जनपद का नाम छा जाये।

Share Button

गणित-विज्ञान के शिक्षकों ने धूमधाम से मनाई नियुक्ति की पहली वर्षगांठ, अधिकार के लिए अंतिम दम तक जताया संघर्ष का संकल्प

30orai02kउरई। परिषदीय उच्च प्राथमिक विद्यालय में गत् वर्ष नियुक्त किये गये गणित और विज्ञान के शिक्षकों ने आज अपना सालाना जलसा सिटी सेंटर में शिक्षा उन्नयन गोष्ठी के बीच मनाया।
इसमें प्रदेश मोर्चा लीगल टीम के सदस्य केके यादव आजमगढ़, विक्रमादित्य सिंह रायबरेली, मो. शफीक लखनऊ, अनुग्रह त्रिपाठी कानपुर, इंदीवर सिंह बहराइच, धीरज राजपूत हमीरपुर और राहुल पांचाल झांसी मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित हुए और समारोह की अध्यक्षता आफताब आलम ने की।
कार्यक्रम का शुभारंभ प्रदेशीय नेता वैभव यादव को श्रद्धाजंलि देकर किया गया। सभा का संचालन आशीष तिवारी और प्रवीण महान ने किया। इस अवसर पर प्रदेश कमेटी के सदस्य अनुग्रह त्रिपाठी ने कहा कि हम लोगों को लंबे संघर्ष के बाद यह नौकरी मिली है जिसकी अहमियत हमको समझनी होगी। 5 अक्टूबर को इसके बाद अगली सुनवाई है जिसका सामना करने के लिए कानूनी तैयारी कर ली गई हैं। जिलाध्यक्ष आफताब आलम ने कहा कि हमें कई चुनौतियों के बीच काम करना पड़ रहा है। जिन विद्यालय में नियुक्ति दी गई है वे जिला मुख्यालय से 70-80 किलोमीटर दूर हैं। सड़के खराब हैं। गांव की दशा भी सोचनीय है। इसके बावजूद कठिनाइयों के बीच हमें अपनी ड्यूटी तपस्या के रूप में निभानी है तांकि बेसिक शिक्षा का स्तर ऊंचा हो सके।
प्रदेश अध्यक्ष केके यादव ने कहा कि उन्होंने इलाहाबाद में छोटी सी टीम के साथ संघर्ष शुरू किया था। उन्हें सुप्रीम कोर्ट तक साथियों की लड़ाई लड़नी पड़ी। जिसकी गवाही हमेशा इतिहास देगा। उन्होंने कहा कि हमारी नियुक्ति से बच्चों की गणित और विज्ञान के मामले में मजबूत नींव तैयार होगी। कार्यक्रम में मौजूद सभी शिक्षकों ने कहा कि अपनी भर्ती बचाने के लिए हम अंत तक मोर्चा के साथ खड़े हैं। समारोह में पिछले दो वर्षों के संघर्ष में इकटठा की गई तस्वीरों से बना होर्डिंग प्रमुख बिंदु रहा।
प्रवीण महान ने जालौन मोर्चा टीम का सफल संचालन के लिए अभिवादन किया। जितेंद्र यादव, आसिफ खान, आदिल खान, आशीष पाल, लोकेश पाल, योगेंद्र यादव, राजकुमार वर्मा, आशीष साहू, आशीष सोनी, मनीष पटेल, नेपाल यादव, बृजमोहन, अमित गौतम, महेंद्र, प्रदीप कुशवाहा, वेद निरंजन आदि मुख्य रूप से उपस्थित रहे।

Share Button

9 अक्टूबर को होगा गायन के क्षेत्र में बुंदेलखंड की प्रतिभाओं को राष्ट्रीय-अंतराष्ट्रीय फलक पर चमक बिखेरने का अवसर

30orai01kkk**जसविंदर नरूला, सोनू निगम, सुनिधि चौहान, श्रेया घोषाल, आकृति कक्कड़ जैसे चोटी के गायक लेंगे ऑडीशन
उरई। आगामी 9 अक्टूबर को गायकी के क्षेत्र में बुंदेलखंड की प्रतिभाओं को तलाशने के लिए एक बड़ा जलसा आयोजित होने जा रहा है तांकि हाशिए पर पड़े इस अंचल के होनहारों को भी राष्ट्रीय-अंतराष्ट्रीय फलक तक अपनी चमक बिखेरने का अवसर दिलाया जा सके।
गीत-संगीत के लिए अपना जीवन लगा देने वाले सेवा निवृत्त बैंक अधिकारी हेम प्रधान ने जीवन तरंग म्यूजिकल एकेडेमी के नाम से एक संस्था पहले से बना रखी है। उनकी संस्था देश के जानेमाने संगम कला ग्रुप के सहयोग से टेलेंट हंट के नाम से 9 अक्टूबर को दिन में शिवानी गार्डन में सब जूनियर, जूनियर और सीनियर संवर्ग में नई प्रतिभाओं के लिए ऑडीशन कार्यक्रम करेगी।
इसमें संगम कलाग्रुप के जानिब से जसविंदर नरूला, सोनू निगम, सुनिधि चौहान, श्रेया घोषाल, आकृति कक्कड़ जैसे चोटी के गायक ऑडीशन लेने आयेगे। जिन प्रतिभाओं को इसमें चयनित किया जायेगा उनका ऑडीशन 25 अक्टूबर को फिर कानपुर मे होगा। इसके बाद फाइनल ऑडीशन इनमें से चुने गायकों का नई दिल्ली में कराया जायेगा।

Share Button

जेंडर व इपिक रेशियो जुवानी याद रखें बीएलओ

konch4बीएलओ को निर्देश देते तहसीलदार भूपाल सिंह

कोंच। तहसीलदार भूपाल सिंह ने शुक्रवार को बीएलओ की कक्षा तहसील सभागार में लगाई और उन्हें मतदाता सूची पुनरीक्षण को लेकर जरूरी हिदायतें दीं, कहा कि सभी बीएलओ अपने अपने भाग संख्या के अंतर्गत जेंडर और इपिक रेशियो जुवानी याद रखें। उन्होंने यह भी कहा कि महिला मतदाताओं की संख्या बढाने पर खास ध्यान देने की जरूरत है और इसके लिये अभियान चला कर उनके नाम मतदाता सूची में दर्ज करायें।
तहसीलदार भूपाल सिंह ने कहा कि बीएलओ अपनी भाग संख्या, बूथ संख्या, जेंडर और इपिक रेशियो से जुड़ी जानकारियां कंठस्थ याद रखें ताकि पूछे जाने पर वे बगलें झांकने के बजाय फटाफट जबाब दे सकें। अभियान के दौरान जितने भी प्रारूप-6 प्राप्त हो चुके हैं उन्हें कार्यालय में जमा करायें ताकि उनकी फीडिंग की जा सके। उन्होंने कहा कि अगर उन्हें कहीं किसी प्रकार की दिक्कत हो तो वे पदाविहित अधिकारियों की मदद ले सकते हैं। इस दौरान आरके दूरवार, ओमप्रकाश, रामबाबू, मुन्नीदेवी, सुशीलादेवी, सरला, सुनीता, मंजू, अग्निवेश, सुशील आदि मौजूद रहे।

Share Button

राष्ट्रीय कृषि बाजार योजना से जुड़ी कोंच की मंडी

konch1कृषि बाजार शुभारंभ के मौके पर मंचस्थ अतिथिगण

कोंच। इलाकाई सांसद भानुप्रताप वर्मा ने कहा है कि राष्टï्रीय कृषि बाजार योजना के तहत कोंच मंडी का जुडऩा अपने आप में एक बड़ी उपलब्धि है, इस योजना के लागू होने के बाद यहां के किसान अंतरप्रांतीय बाजार से जुड़ कर अपनी कृषि उपज का लाभकारी मूल्य प्राप्त कर सकने की स्थिति में होंगे। यह बात उन्होंने आज गल्ला मंडी में राष्टï्रीय कृषि बाजार योजना का शुभारंभ करते हुये बतौर मुख्य अतिथि कही।
गल्ला मंडी में आयोजित सादे समारोह में बिशिष्टï अतिथि उरई सदर विधायक दयाशंकर वर्मा ने कहा कि राष्टï्रीय कृषि बाजार (ई-एनएएम) की अवधारणा के अनुसार किसानों के द्वारा मंडी समिति में विक्रय के लिये लाई जाने बाली जिन्सों की ग्रेडिंग या क्वालिटी टेस्टिंग निर्धारित पैरामीटर पर की जायेगी और प्रदेश भर के व्यापारी इसमें प्रतिभाग कर सकेंगे जिससे प्रतिस्पर्धा konch2सभागार में मौजूद व्यापारी

बढेगी और किसानों को उनकी उपज का बाजिव मूल्य मिल सकेगा। यह योजना प्रदेश के किसानों के हित में महत्वाकांक्षी योजना है। कार्यक्रम में मौजूद ब्लॉक प्रमुख्य ऐन्द्रकुमार सिंह निरंजन, जिपं अध्यक्ष प्रतिनिधि देवेन्द्रसिंह निरंजन, सपा नेता सरनाम सिंह यादव ने भी इस योजना को लेकर व्यवहारिक परिणामों को देखने की जरूरत बताई। मंडी सचिव डॉ. दिलीपकुमार वर्मा ने बताया कि उक्त योजना में देश भर की कुल दो सौ मंडियां संचालित हैं जिनमें प्रदेश की 66 मंडियों को राष्टï्रीय कृषि बाजार योजना से जोड़ा गया है। बुंदेलखंड में ‘क’ श्रेणी की सिर्फ पांच मंडियां और जिले की एकमात्र कोंच मंडी इस योजना का बनी है। इस दौरान मंडी सचिव जालौन माधौगढ ऋषभ जैन, मंडी निरीक्षक छविराज, रविकुमार, बलवानसिंह, इसविंन्द्र कुमार, अशोककुमार, अखिलेशकुमार, अजीमखां, अशोकसिंह, हरीशंकर नगाइच, हरीशंकर कुशवाहा, रमेशचंद्र, इस्लाम, व्यापारियों में विनोद दुवे, अजय रावत, अजय गोयल, राहुल तिवारी, धु्रवप्रताप सिंह, राममोहन रिछारिया, हरीश तिवारी, संतोष गिरवासिया, सुनील लोहिया, छोटे अग्रवाल, हरिश्चंद्र तिवारी, यूसुफ राइन, सुमित कुशवाहा, संतोष विदुआ, विनोद उदैनिया, सौरभ राठौर, प्रेमनारायण राठौर, मिथलेश गुप्ता, वारिस राइन, अरविंद तिवारी, राकेश अग्रवाल, राजीव पटेल सहित तमाम लोग मौजूद रहे।

Share Button

राम-लक्ष्मण का दर्शन कर धन्य हुये जनकपुरवासी

konch3जनक बाजार का दृश्य
* पुष्प वाटिका व जनक बाजार लीला का हुआ मंचन
* खचाखच भरा था रामलीला ग्राउण्ड
कोंच। बीती रात्रि कोंच की सांस्कृतिक धरोहर रामलीला में पुष्प वाटिका और जनक बाजार लीला का प्रभावोत्पादक मंचन रामलीला के श्रेष्ठ रंगकर्मियों द्वारा किया गया। सीता स्वयंवर देखने अपने गुरु विश्वामित्र के साथ जनकपुर पहुंचे राम और लक्ष्मण गुरु की आज्ञा पाकर जनकपुर भ्रमण पर निकलते हैं। बाजार में बैठे दुकानदार और व्यवसायी उनकी मोहिनी छवि देखकर उनसे बात करने को आतुर हो उठते हैं और उन्हें रिझाने के लिये अपनी वाणिज्यिक वस्तुओं की बड़ाई करने लगते हैं। जनकपुर की महिलायें और बालायें भी उन दोनों की एक झलक पाने को आतुर दिखती हैं। बाद में गौरी पूजन के लिये आई जनकनंदिनी सीता और राम का पुष्प वाटिका में प्रथम मिलन होता है। इस दौरान रामलीला ग्राउंड दर्शकों से खचाखच भरा था।
श्री धर्मादा रक्षिणी सभा द्वारा संचालित कोंच की ऐतिहासिक रामलीला के जारी 164वें महोत्सव में बीती रात्रि रामलीला रंगमंच पर पुष्पवाटिका और जनक बाजार का बड़ा ही सुंदर मंचन किया गया। महर्षि विश्वामित्र के साथ सीता स्वयंवर देखने जनकपुर पहुंचे जहां मार्ग में पाषाण शिला बनी पड़ी अहिल्या का राम ने उद्घार किया और महाराज जनक के अतिथि भवन में विश्राम किया। गुरु आज्ञा पाकर दोनों भाई जनकपुर अवलोकन के लिये निकलते हैं। बाद में पुष्प वाटिका में गौरी पूजन के लिये अपनी सखियों के साथ आईं जनकनंदिनी सीता का राम के साथ प्रथम मिलन होता है। लीला में सभी पात्रों ने अपने किरदारों के साथ पूरा न्याय किया। समाजी और व्यासजी रामलीला के अमंचित प्रसंगों को दोहों और चौपाइयों के माध्यम से आगे बढा रहे थे। विश्वामित्र की भूमिका में संतोष त्रिपाठी, पंडों की भूमिका में बुद्घसिंह बुंदेला, मिरकू महाराज, आशुतोष रावत, राकेश गिरवासिया, संतोष राठौर, सुमित झा, शिवम झा, मृदुल दांतरे, अहिल्या अतुल शर्मा, जनक कृष्णकांत वाजपेयी, अन्य भूमिकाओं में पवन अग्रवाल, सूर्यदीप सोनी गौरीशंकर झा, नीरज अग्रवाल सीते, शुभ सोनी, धु्रव सोनी, हिमांशु राठौर, अभिषेक रिछारिया, दीपू सोनी आदि ने अपनी प्रस्तुतियां देकर दर्शकों को खूब हंसाया।

कोंच रामलीला में आज-
सीता को व्याहने बारात लेकर जनकपुर जायेंगे राम
कोंच। शिव धनुष पिनाक को भंग करने के बाद सीता ने राम के कंठ में वरमाला डाल कर उन्हें वर के रूप में चुन लिया है, लेकिन कल 1 अक्टूवर को धूमधाम से बारात लेकर वे अनुजों सहित व्याह रचाने के लिये जनकपुर जायेंगे। उक्ताशय की जानकारी देते हुये रामलीला समिति के अध्यक्ष सुधीर सोनी एवं मंत्री सीताशरण पटेल ने बताया है कि राम बारात रात्रि ठीक नौ बजे रामलीला भवन से प्रारम्भ होकर आजादनगर में खत्रियाना स्थित जनकपुर पहुंचेगी। बारात मार्ग में जगह जगह रामजी की सवारी का स्वागत होगा।

Share Button

लम्बी दूरी की रेलगाड़ियों का स्टापेज न होने से क्षेत्र के यात्री होते हैं परेशान

🎈🎈🎈🎈🎈🎈🎈🎈🎈🎈 कालपी (जालौन)- धार्मिक एवं एतिहासिक नगरी के रूप मे विख्यात कालपी मे दूर दराज से तीर्थ यात्री,जायरीन ,भक्तों तथा नागरिकों का निरन्तर आना जाना लगा रहता है।व्यास मंदिर,खानकाह शरीफ मे पूरे देश के कोने कोने से लोग निरन्तर आते जाते रहते हैं।लेकिन दक्षिण भारत को जोड़ने बाली कोच्चिन एकसप्रेश तथा पुष्पक एकसप्रेस रेलगाडि़यो का ठहराव कालपी रेलवे स्टेशन मे नहीं होता है।इस कारण यात्रियों को उर ई या कानपुर के स्टेशनों मे पहुँच कर गाड़ियों मे उतरना या बैठना पड़ता है। फलस्वरूप यात्रियों का समय व धन की बरबादी होती है।उक्त गाडियो के ठहराव के लिए तमाम बार म़ाग उठ चुकी है।लेकिन अभी तक बेअसर साबित हुई है।जनहित मे रेल मंत्री श्री शुरेष प्रभु से अपेक्षा है कि कालपी मे उक्त रेलगाडियो का स्टाप कराया जाए। 🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳 सलीम अंसारी सीनियर रिपोर्टर कालपी

Share Button

देश की खातिर प्राण न्योछावर करने वाले वीर जवानों को समर्पित-

साभार- नितिन गुप्ता

नाज़ हमें है उन वीरों पर,जो मान बड़ा कर आये हैं।
दुश्मन को घुसकर के मारा,शान बढ़ा कर आये हैं।I

मोदी जी अब मान गये हम, छप्पन इंची सीना है।
कुचल,मसल दो उन सब को अब, चैन जिन्होंने छीना है।I

और आस अब बड़ी वतन की, अरमान बड़ा कर आये हैं।
नाज़ हमें है उन वीरों पर,जो शान बढ़ा कर आये हैं।I

एक मरा तो सौ मारेंगे,अब रीत यही बन जाने दो।
लहू का बदला सिर्फ लहू है,अब गीत यही बन जाने दो।I
गिन ले लाशें दुश्मन जाकर, शमशान बड़ा कर आये हैं।
नाज़ हमें है उन वीरों पर,जो मान बढ़ा कर आये हैं।I

अब बारी उन गद्दारों की,जो घर के होकर डसते हैं।
भारत की मिट्टी का खाते, मगर उसी पर हंसते हैं।I
उनको भी चुन चुन मारेंगे,ऐलान बड़ा कर आये हैं।
नाज हमें है उन वीरों पर, जो मान बढ़ा कर आये हैं।I

🆚🆚 वंदेमातरम्🆚🆚

संकलित

राष्ट्रद्रोह के रावण की सांसो का घोडा ठहर गया
सरहद पार तिरंगा अपना स्वाभिमान से लहर गया

आतंकवाद से लड़ने की शक्ति आई दरबार में
इसीलिए सेना ने मारा एलओसी के पार में

आज सियासत बदल गई है डरते डरते जीने की
उग्रवाद ने नाप देख ली छप्पन इंची सीने की

अरे शरीफों आँख खोलकर समझो जरा इशारों को
राख समझकर अब मत छूना आग्नेय अंगारों को

वर्ना घायल रावलपिंडी अपना खुदा पुकारेगी
जब भारत की सेना अबकी अंदर घुसकर मारेगी

लाल रंग के बलिदानों से अजर अमर यह खाकी है
अरे मियां ये ट्रेलर है पूरी पिक्चर तो बाकी है

(सेना के सम्मान में इतना शेयर करें की सेना तक पहुंचे)

————-जय हिन्द————

#Jai_Hind..
Namo Namo

🌻🌻🌻🌻🅾Ⓜ🐅🌻🌻🌻🌻
“एक हिदुस्तानी”

Share Button