दीपावली पर जुड़े कवि , शुरू हो गया बुद्धिमान सम्मेलन

उरई -दीपावली के उपलक्ष्य में कवि जुड़े और हो गया बुद्धिमान सम्मेलन । माहिल तालाब परिसर स्थित महिला अखंड आश्रम में हुए इस कवि सम्मेलन की अध्यक्षता यज्ञदत्त त्रिपाठी ने की और विनोद गौतम ने संचालन किया ।

आयोजन में जिले के महारथी कवियों ने रस धार बहायी तो लोग सुध बुध खो बैठे । इसमें भावों का हर रंग और शब्दों का जादू देखने को मिला ।कवियों ने प्रेम से लेकर मौजूदा राजनीतिक हालातों तक पर कवितायें पढ़ीं । सुधी श्रोताओं की भीड़ उन्हें सुनने के लिए उमड़ी ।

कवियों की सूची में दर्ज हुए आर पी श्रीवास्तव दुरमुट, शफ़ीकुर्राहमान कश्फ़ी,नासिर अली नदीम,पूरन चंद्र मिश्र ,राधेश्याम योगी। इनके अलावा सत्यपाल शर्मा,राम प्रकाश द्विवेदी ,कुलदीप चतुर्वेदी ,बाबूराम कौशल,अवनीश चंद्र द्विवेदी , रघुराज प्रसाद पत्रकार प्रदीप दीक्षित ने भी शिरकत की ।

Share Button

बिग ब्रेकिंग_खंडहर में किशोरी की लाश

बिग ब्रेकिंग_
रिपोर्ट_भरत दुबे

कदौरा क्षेत्र में किशोरी की उसी के घर खंडहर में मिली लाश |

कई दिनों से सड़ती रही लाश दुर्घन्ध फैलने से हुई जानकारी |

बेसहारा किशोरी की हत्या की आशंका |

घंटो पहले पुलिस को दी गयी सूचना |
गांव में बना चर्चा का विषय |
✍🏽
कदौरा क्षेत्र बेसहारा किशोरी की लाश उसी के घर खण्डहर (अनुपयोगी )में पड़ी होने की सूचना आ रही है |
सूत्रो के मुताबिक उक्त किशोरी अनाथ जैसे हालातो में गांव में रहकर मांगती खाती थी |
जिसकी माँ की मौत पूर्व में हो चुकी थी एवं पिता परदेश में रहता है |

आज कुछ घंटे पूर्व खण्डहर से आयी दुर्घन्ध पर लोगो को पड़ी लाश की जानकारी हो सकी वही घटना की सूचना प्रधान द्वारा पुलिस को भी दी गयी लेकिन अभी तक लाश ज्यो की त्यों पड़ी हुई है |

वही उक्त किशोरी की मौत हत्या की स्थिति को दर्शाती है |

फ़िलहाल पुलिस की जाँच पड़ताल क्या कहती है ये तो आपत्ति व् जाँच पर् निर्भर करेगा |

 

Share Button

काफी समय से बंद है झाँसी रेलवे स्टेशन का एस्केलेटर

झाँसी से सैय्यद तारिक अली
झांसी. 7 जून, 2015 को झांसी रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म पर नवनिर्मित एस्केलेटर का उद्घाटन झांसी की सांसद और केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने किया था। उद्घाटन के ही दिन एस्केलेटर कुछ घंटो बाद बंद हो गया था। किसी तरह इसे सुधार कर चालू किया गया, लेकिन तब से लेकर अब तक यह अक्सर खराब ही रहता है। यात्रियों की सुविधा के नाम पर लगाया गया यह एक्सेलेटर केवल शोपीस बनकर रह गया है। यह एक्सेलेटर इसलिये भी शोपीस माना जा रहा है क्योकि सिर्फ एक ही प्लेटफार्म पर इसे लगाया गया है और बाकियों पर सामान्य सीढियां है।

Share Button

जुए के दौरान विवाद में युवक को गोली मारी

झाँसी से सैय्यद तारिक अली

**चौकी प्रभारी स्वयं कार चलाकर ले गये घायल को मेडिकल कालेज
झांसी। अक्सर सुना जाता है कि पुलिस वाले अपनी जिम्मेदारी से दूर भागते है। लेकिन ऐसा नही है क्योंकि सोमवार को बुन्देलखण्ड में झांसी जनपद के शहर कोतवाली इलाके में कुछ लोगों ने एक युवक को गोली मार दी। जिससे वह घायल हो गया। जब इसकी जानकारी खाण्डेराव गेट चौकी पुलिस को हुई तो समय पर वाहन न होने के कारण चौकी प्रभारी स्वयं कार चलाकर उसे मेडिकल कालेज ले गये। जहां उसकी हालत गम्भीर बनी हुई। हमले का कारण जुए की हारजीत में विवाद का होना बताया जा रहा है। फिलहाल इसकी पुष्टि नही हुई है।

झांसी जनपद के शहर कोतवाली अन्तर्गत गनपत की खिड़की के नजदीक रहने वाले रुप सिंह को कुछ लोगों ने तमंचे से गोली मार दी। जिससे वह घायल हो गया। यह देख स्थानीय लोगों ने इसकी सूचना खाण्डेराव गेट चौकी प्रभारी को दी। प्रत्यक्षदर्शियों की माने तो सूचना पर पहुंची पुलिस ने मामले की जानकारी ली और घायल को मेडिकल कालेज भेजने के लिये वाहन को खोजा। लेकिन वाहन नही मिला तो वह स्वयं उसे अपनी सरकारी जीप में लेकर उपचार के लिये मेडिकल कालेज ले गये। जहां उसकी हालत गम्भीर बनी हुई।

गोली लगने का कारण बताते हुये कुछ लोगों ने दबी जुबां में बताया कि घायल जुए के अड्डे पर गया हुआ था। जहां उसका हारजीत को लेकर विवाद हो गया। विवाद इतना बढ़ गया कि हमलावरों ने उसे गोली मार दी। वहीं जब इस हमले के बारे में पुलिस से जानकारी ली तो उन्होंने हमले के कारण की पुष्टि न करते हुये कुछ भी बताने से इन्कार कर दिया।

Share Button

लोहपुरूष के जन्म दिन पर आयोजित हुई दौड़ प्रतियोगिता

sardar-patelअनुराग श्रीवास्तव पत्रकार जालौन

जालौन। लोहपुरूष सरदार बल्लभ भाई पटेल का 141 जन्म दिन एकता दिवस के रूप में मनाया गया इस मौके पर औरइया मार्ग पर दौड़ प्रतियोगिता का आयोजन किया गया तथा विजेताओं को पुरुस्कृत किया गया।

एकता दिवस के मौके पर औरइया मार्ग पर स्थित मैदान में दौड़ प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसमें सबसे पहले 100 मीटर की दौड़ आयोजित की गई जिसमें एक दर्जन बच्चों ने भाग लिया। इसके बाद सीनियर वर्ग की दौड़ आयोजित हुई जिसमें डेढ़ दर्जन प्रतिभागियों ने भाग लिया। इसके बाद पुलिस के जवानों
की प्रतियोगिता हुई जिसमें आठ पुलिस के जवानों ने भाग लिया। कहीं पुलिस के जवान दौड़ में पुलिस प्रशासन की फजीहत न करा दे। इसलिए प्रशासन ने पुलिस के जवान से बच्चों की तरह 100 मीटर की दौड़ करा कर औपचारिकता निभा दी। विजयी प्रतिभागियों को उपजिलाधिकारी पुलिस उपाधीक्षक तहसीलदार ने पुरुस्कृत किया है।

Share Button

त्यौहारी सीजन में खाद्य पदार्थो में जमकर मिलावट

उरई(जालौन)। दीपावली के त्योहार पर खाद्य पदार्थों में जमकर मिलावट होने से कभी भी कोई भी अप्रिय घटना घट सकती है। इसके बाद भी खाद्य विभाग इस ओर अपना ध्यान आकर्षित नहीं कर रहा है। जिससे लोगों का जीवन खतरे में है।
दीपावली के अवसर पर मिलावट खोरों द्वारा किए जा रहे मिलावटी सामान आम आदमी खरीदने पर मजबूर है। ग्रामीण क्षेत्रों से नगर में आने वाले दूध में जमकर मिलावट हो रही है। रासायनिक पदार्थों की मिलावट से बनाया जा रहा दूध बच्चों के स्वास्थ पर प्रतिकूल प्रभाव डाल रहा है। इसके अलावा देशी घी, हल्दी, धनिया मिर्च, तेल, डालडा समेत तमाम अन्य खाद्य पदार्थ हैं जिनमें जमकर मिलावट हो रही है। खाद्य पदार्थों में हो रही मिलावट के कारण अनके प्रकार की बीमारियाँ फैल रही हैं। बढ़ती मांग के कारण अधिक कमाने के चक्कर में किराना व्यापारी, होटल संचालक आदि खाद्य पदार्थों में मिलावट करने में लगे हुए हैं। खाद्य पदार्थों की मिलावट करने वाले दीपावली के त्योहार के समय मध्य प्रदेश से नदीगांव के रास्ते तथा बंगरा आदि होते हुए बड़ी आसानी से जनपद में माल ला रहे हैं। इतना ही नहीं खाद्य मसालों आदि में भी जमकर मिलावट की जा रही है। इस प्रकार के मिलावटी खाद्य पदार्थ खाने वालों के शरीर में पहुँचकर धीमे जहर का काम कर रहे हैं। इस प्रकार के मिलावटी खाद्य पदार्थ उपभोक्ताओं को ब्लडप्रेशर, शुगर, खांसी, जुकाम, दमा जैसी घातक बीमारियाँ दीपावली के अवसर पर तोहफे के रूप में दे रहे हैं। वहीं स्थानीय लोगों ने बताया कि दीपावली के अवसर पर बजारों में की जा रही जमकर मिलावटखोरी करने वालों के खिलाफ अभी तक खाद्य सुरक्षा अधिकारी द्वारा कोई कार्यवाही न किए जाने के चलते मिलावटखोरों के हौंसले बुलंद हैं। जिसके चलते वह लोगों की सेहत से खिलवाड़ करने में कोई कोर कसर बाकी नहीं छोड़ रहे हैं।

Share Button

विलुप्त होने की कगार पर है बुंदेलखंड का पारम्परिक नृत्य दिवारी

उरई(जालौन)। दीपावली का बुंदेलखंडी संस्करण दिवारी कई मायनों में काफी खास है, खासतौर पर इसमें जो बुंदेलखंडी परम्परायें समायोजित की गई हैं वे दीपावली को अन्य क्षेत्रों से अलग कर इसे खास पहचान देती हैं। उन्हीं में से एक है दिवारी नृत्य, पर्व तब तक पूरा नहीं कहा जा सकता जब तक कि उसमें दिवारी नृत्य का बघार न लगा हो क्योंकि यही बुंदेलखंड की खास पहचान है, लेकिन बदलते वक्त के साथ इस लोकप्रिय लोक परम्परा पर भी ग्रहण लगता जा रहा है और अब यह विलुप्त होने के कगार पर है।
यह नृत्य प्राय अहीर जाति के लोगों से परंपरागत रूप से जुड़ा है और समूचे बुंदेलखंड में इसका प्रचलन है। दिवारी नृत्य करने बाले नर्तक फुंदनादार रंग बिरंगे बंडी व जांघिया पहनते हैं व मुख्य नर्तक मोरपंख की मूठ हाथ में लिये रहता है जबकि बाकी पीठ की ओर जांघिया में खोंसे रहते हैं। उनके हाथों में डण्डे होते हैं और कमर में घुंघरू धारण किये रहते हैं। दिवारी नृत्य की टेर बड़ी ही आकर्षक होती है और इसके गीत दो पंक्तियों के होते हैं, इसके प्रमुख वाद्य यंत्र ढोलक तथा नगडिया होते हैं और गीतों के गाये जाने के बाद ही यह बजाये जाते हैं। दिवारी नृत्य के समय गाये जाने बाले कुछ गीतों की पंक्तियां इस प्रकार हैं-
वृंदावन बसवौ तजौ, अरे हौन लगी अनरीत, तनक दही के कारनै फिर बैंयां गहत अहीर…, श्सदा भवानी दाहिनै सन्मुख रहें गनेश, पांच देव रक्षा करें ब्रह्मड्ढा बिष्नु महेश… तथा खेल लै लरिका खेल लै, आज के खेले कब पाये है तोरौ कातिक भागौ जाये…
आज आधुनिकता की अंधी दौड़ और चकाचौंध में यह समृद्घ लोक बिधा लगभग समाप्त सी हो रही है और सिर्फ कुछेक ग्रामीण इलाकों में बूढे पुराने इस लोक कला को आगे ले जाने की कोशिश में जुटे हैं। लोक कलाओं व ललित कलाओं में अभिरूचि रखने बाले तथा नौजवान रंगकर्मी सूर्यदीप सोनी का मानना है कि इस कला के जानकार इसे अपनी आगे आने बाली पीढी को विरासत के रूप में सौंपें और इसका समुचित प्रशिक्षण देकर इसे जीवंत रखने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभायें। इस पारम्परिक नृत्य को समुचित संरक्षण दिये जाने की आवश्यकता को देखते हुये उत्तर प्रदेश का संस्कृति विभाग भी हालांकि काफी सचेष्ट है और आंचलिक लोक कलाओं व परम्पराओं को अपनी पुस्तक में महत्वपूर्ण स्थान दिया है लेकिन केवल सरकारी प्रयास इस लोक बिधा को संजोये रखने में नाकाफी हैं और इसे आम जन द्वारा ही समुचित पोषण दिया जा सकता है तभी इसे पुनरू जीवंतता प्रदान की जा सकती है।

Share Button

105 नेत्र रोगियां के नेत्रों का निःशुल्क परीक्षण

जालौन। नेत्र परीक्षण शिविर के दौरान 105 नेत्र रोगियां के नेत्रों का निःशुल्क परीक्षण किया गया। परीक्षण के दौरान नेत्र में कोई कमी मिलने पर उसका उपचार भी किया गया।
स्थानीय गौरव नेत्र परीक्षण केंद्र पर कानपुर व दिल्ली के नेत्र विशेषज्ञों द्वारा नेत्र रोगियां के नेत्रों का निःशुल्क परीक्षण किया गया। जिसमें 105 लोगों ने अपने-अपने नेत्रों का परीक्षण कराया। परीक्षण के दौरान कालापानी, नाखूना, पलक बंद, नासूर आदि रोगियां का उपचार भी किया गया। जांच में 12 मरीजों के मोतियाबिंद की शिकायत पायी गई। जिनका दूरबीन विधि द्वारा ऑपरेशन आगामी 13 नवंबर को किया जाएगा।

Share Button

दीपावली में घर पर बिजली की झालर डालने पर विवाद

जालौन। लाइट की झालर डालने को लेकर हुआ विवाद कोतवाली तक पहुंचा। कोतवाली क्षेत्र के ग्राम अकोढ़ी निवासी रमेशचंद्र ने पुलिस को बताया कि वह दीपावली के पर्व पर रोशनी के लिए अपने घर पर लाइट की झालर डाल रहा था। तभी मोहल्ले के ही राजेश व बलवान वहां आ गए और झालर डालने से मना करने लगे। जब उसने कारण पूछा तो उक्त दोनों ने नाराज होकर गाली, गलौज करते हुए उसके साथ मारपीट कर दी।

Share Button

दबंगों द्वारा मारपीट व फायरिंग

जालौन। पुरानी रंजिश को लेकर दबंगों द्वारा मारपीट व फायरिंग किए जाने जाने की शिकायत पीड़ित ने कोतवाली में  तहरीर देते हुए की। पीड़ित की तहरीर पर कोतवाली पुलिस ने चार लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया। तो वहीं, प्रभारी कोतवाल का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है। जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी।
कोतवाली क्षेत्र के ग्राम मलकपुरा निवासी रमाकांत तिवारी ने पुलिस को बताया कि गांव के ही रामू गुर्जर उससे पुरानी रंजिश मानता है। जिसके चलते शनिवार की रात्रि उक्त रामू गुर्जर अपने साथी राघव व विक्रांत के साथ उसके लाठी, डंडे व असलहों से लैस होकर उसके घर आ धमके और उसके साथ गाली, गलौज करने लगे। जब उसने गाली देने से मना किया तो उक्त सभी ने लाठी, डंडों से उसके साथ मारपीट शुरू कर दी। जिससे वह बुरी तरह घायल हो गया। इतना ही नहीं उक्त दबंगों ने अपने साथ लिए असलहों से फायरिंग भी की। त्योहार के दौरान फायरिंग होने की घटना से गांव में दहशत का माहौल है। तो वहीं, पीड़ित पक्ष की तहरीर पर कोतवाली पुलिस ने चारों दबंगों के खिलाफ मामला पंजीकृत कर लिया है। इस संबंध में प्रभारी कोतवाल राजेंद्र सिंह यादव का कहना है कि मामले की विवेचना की जा रही है, जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी।

Share Button

सुख समृद्घि की कामना के साथ पूजे गये लक्ष्मी-गणेश

konch3घरों में हुई लक्ष्मी गणेश की पूजा
* लोक देवी-देवताओं की भी पूजा हुई दीवाली पर
* मंहगाई के बाबजूद खूब चली बारूद, मिठाइयों की रही जबर्दस्त बिक्री
कोंच। सुख, समृद्घि और खुशियों का त्योहार दीपावली यहां नगर व क्षेत्र में पारंपरिक उत्साह और श्रद्घाभाव के साथ मनाया गया। घरों और व्यवसायिक प्रतिष्ठानों में लोगों ने धन और वैभव की अधिष्ठात्री देवी लक्ष्मी और विघ्नहर्ता, सुखदाता लम्बोदर गणेश की पूजा अर्चना कर उन्हें छप्पन भोग लगाये, उनके साथ भगवती लक्ष्मी के कोषाध्यक्ष कुबेर, साईं बाबा आदि की भी पूजा कर सुख समृद्घि की कामना की गई। दीपावली पर्व पर तमाम लोक देवी-देवता जिन्हें साल भर याद भी नहीं konch4लोक देवता की पूजा करते लोग

किया जाता है, भी श्रद्घाभाव से पूजे गये और उनसे कामना की गई कि बर्ष पर्यंत उनकी खुशियों में वे बाधक न बनें। बिजली की झालरें और दीपों की कतारें लोगों को आनंदित कर उनके मन में खुशियों का संचार कर रही थीं। नगर पालिका कार्यालय भी विद्युत झालरों की झिलमिलाहट से रोशन रहा, सागर तालाब में रंग बिरंगे फव्वारे ने लोगों का मन मोह लिया। आसमान से बातें कर रही मंहगाई का असर त्योहार के उत्साह को कम करने में नाकाम रहा, बच्चों, बूढों और जवानों ने खूब आतिशबाजी छुड़ाई, आधी रात तक आसमान रंगबिरंगी छटा बिखेरता रहा। मिठाई की इतनी बिक्री हुई कि शाम तक अधिकांश दुकानों का माल साफ हो चुका था। अबकी दफा चायनीज माल के बहिष्कार का भी खासा असर दिखा और लोगों ने रोशनी के लिये परंपरागत देसी दीयों का ही ज्यादा प्रयोग किया।

Share Button

जुआरियों की दबंगई, पुलिस के साथ कर दी मजाहमत

* नये सिपाहियों ने संभाला मोर्चा तब दबे जुआरी, पांच पकड़ में आये
कोंच। जुआरियों की जुर्रत तो देखो कि जुआ पकडऩे गई पुलिस पर ही वे भारी पड़ गये और जम कर पुलिस के साथ मुंहनोंची की और पुलिस का इकबाल खिसकता नजर आया। वह तो नये सिपाहियों ने आगे बढ कर जब मोर्चा संभाला तब कहीं जाकर जुआरियों की हवा निकल सकी। फिलहाल, जुये के फड़ से पुलिस ने पांच जुआरियों को गिरफ्तार किया है जिन्हें बाद में मुचलके पर छोड़ दिया गया।
दरअसल पुलिस और जुआरियों के बीच दुरभि संधि किसी से छिपी नहीं है, यही कारण है कि जुआरी बेखौफ होकर जुआ खेल रहे हैं और जगह जगह जुये के अड्डे कुकुरमुत्तों की तरह छाये हैं। कल शाम जिले के आला अधिकारियों से मिले निर्देशों के बाद कोतवाली पुलिस सक्रिय हुई और जुये के फाड़ों पर छापेमारी की जहां पुलिस को जुआरियों की दबंगई का सामना करना पड़ा और पुलिस को अपनी इज्जत बचाने के लाले पड़ गये। यहां कस्बे के मोहल्ला जयप्रकाश नगर के बंगला इलाके में लगे जुये के फड़ पर पुलिस ने छापा मारा तो अधिकांश जुआरी तो भाग गये लेकिन जो पकड़ में आये वे पलटवार पर आमादा दिखे और पुलिस बैकफुट पर। गनीमत यह रही कि कोतवाली में तैनात नये सिपाहियों ने जब मोर्चा संभाला तब कहीं जाकर पुलिस की इज्जत बच सकी और जुआरी कोतवाली तक आ सके। इस दौरान पांच जुआरी पकड़े गये जिनके पास से साढे चौदह सौ रुपये की बरामदगी दिखाई गई। इन जुआरियों में एक निर्वाचित जनप्रतिनिधि का नाम होना भी खासा चर्चाओं में रहा। दूसरी घटना कसाईमंडी इलाके की है जहां छापा डालने गई पुलिस को ही लोगों ने घेर लिया। बैकफुट पर यहां भी दिखी पुलिस और किसी तरह दो लोगों को कोतवाली तक इस शर्त के साथ लाया जा सका कि वहां जाकर छोड़ दिया जायेगा। बाद में हुआ भी ऐसा ही। टीम में एसएसआई अजयकुमार सिंह, दरोगा उदयपाल सिंह, सिपाही श्यामसुंदर, अनुजकुमार, शोयेब, खुर्शीद आदि शामिल रहे। बहरहाल, इन घटनाओं की तह में जाकर अगर गहराई से देखा जाये तो अपराधियों के साथ गठजोड़ के कारण पुलिस के इकबाल में कमी आई है और ऐसी स्थिति में लोगों को अपनी सुरक्षा की चिंता सताना स्वाभाविक है।

Share Button

‘भूखे प्यासों के लिये कुछ तो जोडिय़े घट में, एक मुट्टी ही सही रोज ही डाला करिये’

konch1तुलसीजी के समक्ष दीप जला कर शहीदों को नमन करते लोग
* गरीबों की भी दीवाली मन गई नये लकदक कपड़ों में
* दरिद्र नारायण सेवा समिति के तत्वाधान में बल्दाऊ धर्मशाला में बांटे गये कपड़े
कोंच। सैकड़ों गरीबों को नित्य प्रति भोजन कराने बाली नगर की प्रमुख समाजसेवी संस्था दरिद्र नारायण सेवा समिति के तत्वाधान में दीपावली जैसे प्रकाशोत्सव पर गरीबों की दीवाली भी नये लकदक कपड़ों में मन गई। इस दौरान सैकड़ा भर गरीबों को नये कपड़े प्रदान किये गये। त्रिदेव केबिल्स की ओर से सैकड़ों गरीबों को भोजन कराया गया। इससे पूर्व तुलसीजी के समक्ष दीपक जला कर शहीदों को श्रद्घांजलि दी गई।
यहां बल्दाऊ धर्मशाला में रविवार को एक सादे समारोह का आयोजन दरिद्र नारायण सेवा समिति के तत्वाधान में किया गया जिसमें संस्था में पंजीकृत हिंदू गरीबों को दीपावली के अवसर पर नये कपड़ों konch2गरीबों को नये वस्त्र प्रदान करते एसडीएम मुईनुल इस्लाम

का वितरण किया गया। इससे पूर्व ईद पर मुस्लिम बंधुओं को नये कपड़े जन सहयोग से प्रदान किये गये थे। कार्यक्रम की शुरुआत धर्मशाला परिसर में तुलसीजी के वृक्ष के सम्मुख दीप जला कर शहीदों को नमन कर की गई। बरिष्ठ साहित्यकार नरेन्द्र मित्र ने अपनी रचना ‘नेक कामों के लिये वक्त निकाला करिये, एक दीपक की तरह कुछ तो उजाला करिये, भूखे प्यासों के लिये कुछ तो जोडिय़े घट में, एक मुट्टी ही सही रोज ही डाला करिये’ के माध्यम से आज के इस कार्यक्रम की सार्थकता और प्रासंगिकता बताई। प्रमोद स्वर्णकार ने स्वागत गीत पढा। इस अवसर पर बतौर मुख्य अतिथि एसडीएम मुईनुल इस्लाम ने कहा कि वास्तव में दरिद्र नारायण सेवा समिति जैसी संस्थायें और उदारमना लोग गरीबों की चिंता करते हुये उनको न केवल नित्य भोजन की व्यवस्था करने में लगे हैं बल्कि पर्वों और त्योहारों पर नये कपड़ों का वितरण कर गरीबों को भी प्रसन्न होने का अवसर प्रदान करते हैं। बिशिष्टï अतिथि पालिका चेयरपर्सन प्रतिनिधि विज्ञान विशारद सीरौठिया ने कहा कि दरिद्र नारायण सेवा समिति अब किसी परिचय की मोहताज नहीं रह गई है, यह देख कर आत्मिक सुख की अनुभूति होती है कि यह संस्था न सिर्फ गरीबों को रोज भोजन ही कराती है बल्कि ऐसे अपाहिजों जो चल फिर सकने में असमर्थ हैं, के घरों तक टिफिन के जरिये भोजन भेजने का भी प्रबंध करती है। तीज त्योहारों पर उन्हें नये वस्त्रादि प्रदान कर उन्हें भी पर्वों की खुशियां मनाने का मौका देती है। उन्होंने कहा कि लोगों को इस संस्था से प्रेरणा लेनी चाहिये ताकि ऐसे भंडारे गांव-गांव हों और कोई गरीब भूखा न रहे। कार्यक्रम की अध्यक्षता शिक्षाविद् गजराजसिंह सेंगर ने की और संचालन समिति के संयोजक कढोरेलाल यादव ने किया। प्रो. वीरेन्द्रसिंह, केके मिश्रा, रामशंकर छानी, देवेन्द्रकुमार द्विवेदी, श्रीकांत गुप्ता आदि ने भी संबोधित किया। इस मौके पर प्रधानाचार्या द्वय मिथलेश नगाइच, इंदिरा द्विवेदी, डॉ. नीता रेजा, हाजी सेठ नसरूल्ला, हाजी मुहम्मद अहमद, धर्मादा अध्यक्ष केशव बबेले, सुनील लोहिया, मूलचंद्र पांचाल, विशाल अहमद, राजीव रेजा, राजेन्द्र दुवे, धर्मेन्द्र बबेले, सभासद राघवेन्द्र तिवारी, सबीना बेगम, रज्जाक अंसारी, रज्जाक कुरैशी आदि मौजूद रहे।

Share Button

ब्रेकिंग न्यूज……………गौवसों से लदा द्रक पुलिस ने पकड़ा चालक सहत तीन लोग गिरफ्तार।

सलीम अंसारी सीनियर रिपोर्टर कालपी
कालपी(जालौन)30अक्टूबर। अभी अभी कालपी नगर कू हाइवे के फुल पावर चौराहे मे कोतवाल एस एस राठौर सिपाहियों तथा होमगार्ड के जवानों रशीद और रामलखन ने घेराबंदी करके दस टायरा ट्रक नं. यू.पी. 70 को पकड़ लिया ट्रक के अंदर डूस डूसकर तीन दर्जन बैल तथा बछड़े भरे हुये थे । ट्रक के चालक तथा दो पशु व्यापारीयों को पुलिस ने हिरासत मे ले लिया कोतवाल ने कब्जे मे ंलेकर बैलों तथा बछड़ों को गौशाला की सुपुर्दगी मे भेज दिया कोतवाल के मुताबिक को पशुओं को काटने के लिए लिये जा रहे थे। दो सप्ताह के भीतर कालपी पुलिस ने बैल और बछड़ों से भरा यह तीसरा द्रक पकड़ा है।

Share Button

समय पर मिल जाता इलाज तो बच सकती थी युवक की जान

कदौरा से भरत दुबे

घटना में मृतक जगत सिंहghayal

घटना स्थल पर टूटा पड़ा स्पलेण्डर का टुकड़ाwhatsapp-image-2016-10-30-at-12-17-43-pm
कदौरा दीपावली के एक दिन पहले कदौरा क्षेत्र के हाईवे, पेट्रोल पंप के पास हुई दुर्घटना में घायल की शिनाख्त जगतसिंह पुत्र खेमा निवासी रिठारी (कुरारा) के रूप में हुई। सूत्रों से ज्ञात हुआ कि दुर्घटना में घायल युवक ने एक घंटे तक सड़क पर ही तड़पता रहा। बताया जाता है कि दुर्घटना स्थल के पास ही पेट्रोल पम्प होने से तमाम लोगों ने युवक को तड़पता हुआ देखा किन्तु किसी ने लाचार की मदद करने की जरूरत नहीं समझी अन्ततः घायल ने किसी भी तरह की कोई सहायता न मिलने के चलते घटनास्थल पर ही दम तोड़ दिया।
घटनास्थल पर कोई वाहन भी नहीं मिला है जिससे यह अन्दाजा भी फिलहाल नहीं लग सका की घायल किसी वाहन से था या पैदल घटनास्थल के पास में स्पलेंडर मोटर बाइक के मिले क्षतिग्रस्त टुकड़े मिले हैं लेकिन बाइक नहीं मिल सकी लेकिन इससे यह स्पष्ट हो रहा है कि दुर्घटना में कोई स्पलेंडर बाइक थी। यह भी अनुमान लगाया जा रहा है कि सम्भव है युवक किसी के साथ यात्रा कर रहा हो
और दुर्घटना के बाद साथी को कम चोट लगी हो और वह घटना के बाद मय मोटर साइकिल के निकल लिया हो।

Share Button

समय से उपचार जरूरतमंदो तथा गरीबो की मदद करना सबसे बड़ा धर्म–कोतवाल

kalpee-01फल एवं मिठाई बाटते कोतवाल. मिलता तो शायद बच जाती युवक की जान
सलीम अंसारी सीनियर रिपोर्टर कालपी
कालपी( जालौन)30 अकटूबर- स्थानीय कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक सत्येद्रं सिंह राठौर ने कहा कि मानव समाज की सेवा सबसे बड़ा धर्म है।इसलिये सभी लोगों को असहायों,गरीबों,जरूरतमंदो तथा पीड़ितों की मदद करने के लिए अपनी अग्रणी भूमिका का निर्वाह सदैव करना चाहिए। दीपावली के पावन पर्व पर देर रात्रि को धर्म नगरी कालपी मे कोतवाल एस.एस.राठौर ने घूम घूम कर गरीबों को मिठाईया तथा केले,सेव,फलों का बितरण करके खुशी का इजहार करते हुये दीपावली की दिल की गहराइयों से मुबारक बाद प्रस्तुत की। मुस्लिम समाज के विख्यात धर्म स्थल दरगाह खानकाह मुहम्मदिया के परिसर मे फल एवं मिठाई बाटते हुये गरीबो तथा जरूरत मंद लोगों के बीच विचार प्रकट करते हुये श्री राठौर ने कहा साम्प्रदायिक सौहार्द की कालपी मे गौरवशाली परम्परा को हम सबको आगे बड़ाने के लिए तत्पर रहना चाहिए।दीपावली की खुशियाँ को साझा करते हुये उन्होनें सभी को बधाईयां दी।इस अवसर मे दरगाह कमेटी के सेकेटी तौकीर खान,सललू बरकाती,प्रकाश नरायण द्विवेदी,सलीम अंसारी,शकील रजा प्रमुख रूप से मौजूद रहे।

Share Button