बस स्टैण्ड चौकी में अरुण यादव की तैनाती के बाद स्मार्ट हो गया तंत्र, वाहनों का यातायात माह में रिकार्ड चालान

उरई। बस स्टैण्ड चौकी में एसपी द्वारा तेज तर्रार एसआई अरुण यादव को इंचार्ज नियुक्त किये जाने के बाद लॉ-एंड-आर्डर मेंटेन करने के मामले में विशेष चुस्ती-फुर्ती नजर आने लगी है। यातायात माह के अभियान में इस चौकी की कार्रवाई के पूरे जिले में सबसे ज्यादा रिकार्ड से इसका अनुमान किया जा सकता है।
बस स्टैण्ड चौकी पुलिस ने यातायात माह के अभियान में 38 चार पहिया और 20 दो पहिया वाहनों का चालान कर खलबली मचा दी। इस एक्शन से जहां वाहन चोरों का पेट पतला होता रहा वहीं वाहन मालिक चालक कायदे कानून के अनुसार चलने के लिए बाध्य हुए जिससे हादसों में गिरावट आने की उम्मीद लगाई जा रही है।
बस स्टैण्ड चौकी क्षेत्र के अंतर्गत कबूतरों के डेरे आते हैं जिससे इस क्षेत्र की शोहरत कबूतरों की दारू वाली चौकी के बतौर बनी हुई है। नये चौकी इंचार्ज अरुण यादव ने इस खराब शोहरत का दाग मेंटने के लिए अपने इलाके में कच्ची शराब बनाने और बेंचने वालों की कमर तोड़ने की रणनीति बनाई है। इसके तहत पहली कार्रवाई में उन्होंने उमरारखेरा के पास सुमन और रचना नाम की दो महिलाओं को पांच-पांच लीटर कच्ची शराब के साथ गिरफ्तार किया और ऐलान करा दिया कि अगर कच्ची शराब के कारोबार से ये लोग बाज नही आये तो इन्हें ऐसी धाराओं में जेल भेजा जायेगा कि हाईकोर्ट तक जमानत मिलना मुश्किल हो जाये।

Share Button

एक माह के अन्दर फिर आयेगी मेडीकल कालेज उरई में न्यूरोलाजी-आर० पी० निरंजन

विशेष संवाददाता अवधेश पटेल से सीधी बातwhatsapp-image-2016-11-29-at-9-16-18-pm

*झांसी में पचास करोड़ की लागत से आई० टी० पार्क मंजूर कराया
*अल्प कार्यकाल में 131 ग्रामों का सघन दौरा 106 ग्रामों की समस्यायें निस्तारित
*अन्ना पशुओं से किसानों को निजात तहसील स्तर पर खोले जायेंगे कांजी हाउस
उरई । साफ-सुथरी राजनीति के लिये राजनीति में बुद्धिजीवी वर्ग का शामिल होना स्वस्थ्य प्रजातंन्त्र के लिये शुभ होता है जिसका फायदा जनता को होना लाजमी है जिसका उदाहरण सपा से विधान परिषद सदस्या श्रीमती रमानिरंजन तथा उनके पति एवं प्रतिनिधि माननीय आर० पी० निरंजन हैं माननीय निरंजन ने समाज सेवा की खातिर पालीटेक्निक के प्राध्यापक पद से स्वयं सेवा निवृति लेकर राजनीति के माध्यम से जनता की सेवा का वीड़ा उठाया। उनके जज्वे को सभी सलाम कर रहे हैं क्यों कि उनकी सरलता, जीवटता, एवं प्रखर वुद्धि व सुचिता के कारण वह अपने क्षेत्र मे लोकप्रियता की अमिट छाप छोड़ रहे हैं जव भी वह उरई आते हैं तो निरीक्षण गृह में रुक कर लोगों की समस्यायें सुनकर उनका त्वरित निदान करते हैं चूंकि वह सत्ताधारी पार्टी से है इसलिये व्यूरोक्रेट्स भी उनके द्वारा उठायी गयी समस्याआों को नजर अंदाज नहीं करते हैं आलम यह है कि अपने वहुत ही अल्प कार्यकाल में उन्होंने कुल १३१ ग्रामों का सघन दौरा कर ग्रामीणों के दुख दर्द में शामिल हुये तथा अथक प्रयास कर १०६ ग्रामों की समस्यायें निवटाकर मेहनत व जीवटता का परचम लहरा दिया इतना ही नहीं उन्हें अपनी निधि से भी कोई गुरेज नहीं जहां सामूहिक लोक समस्याओं में अर्थ आड़े आता है तो वह मुक्त हस्त से पैसा हस्तांतरित कर देते हैं। आज उरई सर्किट हाउस में कृष्णा न्यूज पोर्टल से वार्ता करते हुये उन्होंने वताया कि २८ नवम्वर को झांसी में प्रोद्योगिक एवं इलेक्ट्रोनिक प्रदेश कैविनेट मंन्त्री मनोज कुमार पांण्डे से अनुरोध कर झांसी में पचास करोड़ की लागत से आई० टी० पार्क मंजूर करवा दिया जिसके लिये पांच एकड़ जमीन की भी व्यवस्था कर दी गई है शीघ्र ही इसका मुख्यमंन्त्री इसका शिलान्यास करेंगे उन्होंने वताया कि वर्तमान में ऐसा पार्क प्रदेश में सिर्फ गोरखपुर व लखनऊ में है इससे किसानों महिला किसानों व आने वाली पीढ़ी को उच्चतकनीकी ज्ञान हासिल होगा उनके अपने सामाजिक सरोकारों को आगे वढ़ाते हुये जव पोर्टल संबाददाता ने बताया कि उरई के मेडिकल कालेज में न्यूरोलाजी, यूरोलाजी, व कार्डियोलाजी विभाग नही है जिसे उन्होंने आश्वस्त किया कि इस समस्या का निदान जनहित को देखते हुये मंन्त्री शिवकांत ओझा से बात कर एक माह के अन्दर इस समस्या का समाधान कर दिया जायेगा उल्लेखनीय है कि वसपा के शासनकाल में बांदा के एक कद्दावर नेता इन विभागों को हस्तांतरित कर ले गये थे। तव से मेडिकल कालेज ओ०पी० डी० के रूप में सफेद हाथी वना है जानवरों की अन्नाप्रथा समस्या के वारे में वताया तो उन्होंने कहा कि जल्दी ही तहसील स्तर पर कांजी हाउस खोल दिये जायेंगे। उन्होंने सपा शासन की उपलव्धियों के वारे में कहा कि हमारे मुख्य मंन्त्री जी स्वच्छ छवि के व्यक्ति हैं और प्रथमिकता में प्रदेश का विकास है आगामी पंचवर्षीय योजना में सपा की सरकार फिर वनेगी । उन्होंने कहा कि हो सकता है कि नेता जी आगामी चुनाव में माधौगड़ सीट की जिम्मेदारी सोंपें अगर एैसा होता है तो वह सहर्ष तैयार हैं। विधान परिषद सदस्य श्रीमती रमानिरंजन एवं उनके पतिएवं प्रतिनिधि माननीय आर० पी० निरंजन हैं माननीय निरंजन ने समाज सेवा की खातिर पालीटेक्निक के प्राध्यापक पद से स्वयं सेवा निवृति लेकर राजनीति के माध्यम से जनता की सेवा का वीड़ा उठाया। उनके जज्वे को सभी सलाम कर रहे है क्यों कि उनकी सरलता, जीवटता, एवं प्रखर वुद्धि व सुचिता के कारण वह अपने क्षेत्र मे लोकप्रियता की अमिट छाप छोड़ रहे हैं जव भी वह उरई आते हैं तो निरीक्षण गृह में रुक कर लोगों की समस्यायें सुनकर उनका त्वरित निदान करते हैं चूंकि वह सत्ताधारी पार्टी से है इसलिये व्यूरोक्रेट्स भी उनके द्वारा उठायी गयी समस्याआों को नजरअंदाज नहीं करते हैं आलम यह है कि अपने वहुत ही अल्प कार्यकाल में उन्होंने कुल १३१ग्रामों का सघन दौरा कर ग्रामीणों के दुख दर्द में शामिल हुये तथा अथक प्रयास कर १०६ ग्रामों की समस्यायें निवटाकर मेहनत व जीवटता का परचम लहरा दिया इतना ही नहीं उन्हें अपनी निधि से भी कोई गुरेज नहीं जहां सामूहिक लोक समस्याओं में अर्थ आड़े आताहै तो वह मुक्त हस्त से पैसा हस्तांतरित कर देते हैं। आज उरई सर्किट हाउस में कृष्णा न्यूज पोर्टल से वार्ता करते हुये उन्होंने वताया कि २८ नवम्वर को झांसी में प्रोधोगिक एवंइलेक्ट्रोनिक प्रदेश कैविनेट मंन्त्री मनोज कुमार पांण्ये से अनुरोध कर झांसी में पचास करोड़ की लागत से आई० टी० पार्क मंजूर करवा दिया जिसके लिये पांच एकड़ जमीन की भी व्यवस्था कर दी गई है शीघ्र ही इसका मुख्यमंन्त्री इसका शिलान्यास करेंगे उन्होंने वताया कि वर्तमान में एैसा पार्क प्रदेश में सिर्फ गोरखपुर व लखनऊ में है इससे किसानों महिला किसानों व आने वाली पीड़ी को उच्चतकनीकी ग्यान हासिल होगा उनके अपने सामाजिक सरोकारों को आगे वढ़ाते हुये जव पोर्टल संबाददाता ने बताया कि उरई के मेडिकल कालेज में न्यूरोलाजी, यूरोलाजी, व कार्डियोलाजी विभाग नही है जिसे उन्होंने आश्वस्त किया कि इस समस्या का निदान जनहित को देखते हुये मंन्त्री शिवकांत ओझा से बात कर एक माह के अन्दर इस समस्या का समाधान कर दिया जायेगा उल्लेखनीय है कि वसपा के शासनकाल में बांदा के एक कद्दावर नेता इन विभागों को हस्तांतरित कर ले गये थे।तव से मेडिकल कालेज ओ०पी० डी० के रूप में सफेद हाथी वना है जानवरों की अन्नाप्रथा समस्या के वारे में बताया तो उन्होंने कहा कि जल्दी ही तहसील स्तर पर कांजी हाउस खोल दिये जायेंगे। उन्होंने सपा शासन की उपलव्धियों के वारे में कहा कि हमारे मुख्य मंन्त्री जी स्वच्छ छवि के व्यक्ति हैं और प्रथमिकता में प्रदेश का विकास है आगामी पंचवर्षीय योजना में सपा की सरकार फिर बनेगी । जब उन से जनपद की माधौगढ़ सीट पर विधान सभा चुनाव के सम्बन्ध में उन्होंने कहा कि यदि आगामी चुनाव में माधौगढ़ सीट की जिम्मेदारी पार्टी उन्हें सोंपेगी तो वह सहर्ष तैयार हैं।

Share Button

एक माह के अन्दर फिर आयेगी मेडीकल कालेज उरई में न्यूरोलाजी-आर० पी० निरंजन

एक माह के अन्दर फिर आयेगी मेडीकल कालेज उरई में न्यूरोलाजी-आर० पी० निरंजन
झांसी में पचास करोड़ की लागत से आई० टी० पार्क मंजूर कराया

अल्प कार्यकाल में 131 ग्रामों का सघन दौरा 106 ग्रामों की समस्यायें निस्तारित

अन्ना पशुओं से किसानों को निजात तहसील स्तर पर खोले जायेंगे कांजी हाउस 

उरई । साफ-सुथरी राजनीति के लिये राजनीति में बुद्धिजीवी वर्ग का शामिल होना स्वस्थ्य प्रजातंन्त्र के लिये शुभ होता है जिसका फायदा जनता को होना लाजमी है जिसका उदाहरण सपा से विधान परिषद सदस्या श्रीमती रमानिरंजन तथा उनके पति एवं प्रतिनिधि माननीय आर० पी० निरंजन हैं माननीय निरंजन ने समाज सेवा की खातिर पालीटेक्निक के प्राध्यापक पद से स्वयं सेवा निवृति लेकर राजनीति के माध्यम से जनता की सेवा का वीड़ा उठाया। उनके जज्वे को सभी सलाम कर रहे हैं क्यों कि उनकी सरलता, जीवटता, एवं प्रखर वुद्धि व सुचिता के कारण वह अपने क्षेत्र मे लोकप्रियता की अमिट छाप छोड़ रहे हैं जव भी वह उरई आते हैं तो निरीक्षण गृह में रुक कर लोगों की समस्यायें सुनकर उनका त्वरित निदान करते हैं चूंकि वह सत्ताधारी पार्टी से है इसलिये व्यूरोक्रेट्स भी उनके द्वारा उठायी गयी समस्याआों को नजर अंदाज नहीं करते हैं आलम यह है कि अपने वहुत ही अल्प कार्यकाल में उन्होंने कुल १३१ ग्रामों का सघन दौरा कर ग्रामीणों के दुख दर्द में शामिल हुये तथा अथक प्रयास कर १०६ ग्रामों की समस्यायें निवटाकर मेहनत व जीवटता का परचम लहरा दिया इतना ही नहीं उन्हें अपनी निधि से भी कोई गुरेज नहीं जहां सामूहिक लोक समस्याओं में अर्थ आड़े आता है तो वह मुक्त हस्त से पैसा हस्तांतरित कर देते हैं। आज उरई सर्किट हाउस में  कृष्णा न्यूज पोर्टल से वार्ता करते हुये उन्होंने वताया कि २८ नवम्वर को झांसी में प्रोद्योगिक एवं इलेक्ट्रोनिक प्रदेश कैविनेट मंन्त्री मनोज कुमार पांण्डे से अनुरोध कर झांसी में पचास करोड़ की लागत से आई० टी० पार्क मंजूर करवा दिया जिसके लिये पांच एकड़ जमीन की भी व्यवस्था कर दी गई है शीघ्र ही इसका मुख्यमंन्त्री इसका शिलान्यास करेंगे उन्होंने वताया कि वर्तमान में ऐसा पार्क प्रदेश में सिर्फ गोरखपुर व लखनऊ में है इससे किसानों महिला किसानों व आने वाली पीढ़ी को उच्चतकनीकी ज्ञान हासिल होगा उनके अपने सामाजिक सरोकारों को आगे वढ़ाते हुये जव पोर्टल संबाददाता ने बताया कि उरई के मेडिकल कालेज में न्यूरोलाजी, यूरोलाजी, व कार्डियोलाजी विभाग नही है जिसे उन्होंने आश्वस्त किया कि इस समस्या का निदान जनहित को देखते हुये मंन्त्री शिवकांत ओझा से बात कर एक माह के अन्दर इस समस्या का समाधान कर दिया जायेगा उल्लेखनीय है कि वसपा के शासनकाल में बांदा के एक कद्दावर नेता इन विभागों को हस्तांतरित कर ले गये थे। तव से मेडिकल कालेज ओ०पी० डी० के रूप में सफेद हाथी वना है जानवरों की अन्नाप्रथा समस्या के वारे में वताया तो उन्होंने कहा कि जल्दी ही तहसील स्तर पर कांजी हाउस खोल दिये जायेंगे। उन्होंने सपा शासन की उपलव्धियों के वारे में कहा कि हमारे मुख्य मंन्त्री जी स्वच्छ छवि के व्यक्ति हैं और प्रथमिकता में प्रदेश का विकास है आगामी पंचवर्षीय योजना में सपा की सरकार फिर वनेगी । उन्होंने कहा कि हो सकता है कि नेता जी आगामी चुनाव में माधौगड़ सीट की जिम्मेदारी सोंपें अगर एैसा होता है तो वह सहर्ष तैयार हैं।  विधान परिषद सदस्य श्रीमती रमानिरंजन एवं उनके पतिएवं प्रतिनिधि माननीय आर० पी० निरंजन हैं माननीय निरंजन ने समाज सेवा की खातिर पालीटेक्निक के प्राध्यापक पद से स्वयं सेवा निवृति लेकर राजनीति के माध्यम से जनता की सेवा का वीड़ा उठाया। उनके जज्वे को सभी सलाम कर रहे है क्यों कि उनकी सरलता, जीवटता, एवं प्रखर वुद्धि व सुचिता के कारण वह अपने क्षेत्र मे लोकप्रियता की अमिट छाप छोड़ रहे हैं जव भी वह उरई आते हैं तो निरीक्षण गृह में रुक कर लोगों की समस्यायें सुनकर उनका त्वरित निदान करते हैं चूंकि वह सत्ताधारी पार्टी से है इसलिये व्यूरोक्रेट्स भी उनके द्वारा उठायी गयी समस्याआों को नजरअंदाज नहीं करते हैं आलम यह है कि अपने वहुत ही अल्प कार्यकाल में उन्होंने कुल १३१ग्रामों का सघन दौरा कर ग्रामीणों के दुख दर्द में शामिल हुये तथा अथक प्रयास कर १०६ ग्रामों की समस्यायें निवटाकर मेहनत व जीवटता का परचम लहरा दिया इतना ही नहीं उन्हें अपनी निधि से भी कोई गुरेज नहीं जहां सामूहिक लोक समस्याओं में अर्थ आड़े आताहै तो वह मुक्त हस्त से पैसा हस्तांतरित कर देते हैं। आज उरई सर्किट हाउस में  कृष्णा न्यूज पोर्टल से वार्ता करते हुये उन्होंने वताया कि २८ नवम्वर को झांसी में प्रोधोगिक एवंइलेक्ट्रोनिक प्रदेश कैविनेट मंन्त्री मनोज कुमार पांण्ये से अनुरोध कर झांसी में पचास करोड़ की लागत से आई० टी० पार्क मंजूर करवा दिया जिसके लिये पांच एकड़ जमीन की भी व्यवस्था कर दी गई है शीघ्र ही इसका मुख्यमंन्त्री इसका शिलान्यास करेंगे उन्होंने वताया कि वर्तमान में एैसा पार्क प्रदेश में सिर्फ गोरखपुर व लखनऊ में है इससे किसानों महिला किसानों व आने वाली पीड़ी को उच्चतकनीकी ग्यान हासिल होगा उनके अपने सामाजिक सरोकारों को आगे वढ़ाते हुये जव पोर्टल संबाददाता ने बताया कि उरई के मेडिकल कालेज में न्यूरोलाजी, यूरोलाजी, व कार्डियोलाजी विभाग नही है जिसे उन्होंने आश्वस्त किया कि इस समस्या का निदान जनहित को देखते हुये मंन्त्री शिवकांत ओझा से बात कर एक माह के अन्दर इस समस्या का समाधान कर दिया जायेगा उल्लेखनीय है कि वसपा के शासनकाल में बांदा के एक कद्दावर नेता इन विभागों को हस्तांतरित कर ले गये थे।तव से मेडिकल कालेज ओ०पी० डी० के रूप में सफेद हाथी वना है जानवरों की अन्नाप्रथा समस्या के वारे में बताया तो उन्होंने कहा कि जल्दी ही तहसील स्तर पर कांजी हाउस खोल दिये जायेंगे। उन्होंने सपा शासन की उपलव्धियों के वारे में कहा कि हमारे मुख्य मंन्त्री जी स्वच्छ छवि के व्यक्ति हैं और प्रथमिकता में प्रदेश का विकास है आगामी पंचवर्षीय योजना में सपा की सरकार फिर बनेगी । जब उन से जनपद की माधौगढ़ सीट पर विधान सभा चुनाव के सम्बन्ध में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि यदि आगामी चुनाव में माधौगढ़ सीट की जिम्मेदारी पार्टी उन्हें सोंपेगी तो वह तो वह सहर्ष तैयार हैं।

Share Button

कमिश्नर 1 को उरई में, रात्रि विश्राम भी करेंगे

उरई। झांसी मंडल के आयुक्त के. राम मोहन राव 1 दिसंबर को जिला मुख्यालय पर तहसील, लेखपाल प्रशिक्षण केंद्र और नगर पालिका का निरीक्षण करेंगे। जिसे लेकर तीनों विभागों में स्याह-सफेद दुरुस्त करने की हलचल युद्ध स्तर पर शुरू हो गई है। खास बात यह है कि आयुक्त का 1 दिसंबर को उरई में ही रात्रि विश्राम करने का इरादा है। जिससे उनकी तेज तर्रार कार्यशैली के मददेनजर कामचोर और भ्रष्ट अफसर खौफ में हैं।

Share Button

यूपी कैबिनेट के मसटट् मार जाने से ग्रामीण सफाई कर्मचारियों का सब्र टूटा, 5 दिसंबर को सीएम आवास के घेराव का ऐलान

उरई। पंचायती राज विभाग के अधीन कार्यरत ग्रामीण सफाई कर्मचारियों के संघ ने अपनी आठ सूत्रीय मांगों का निराकरण न होने के कारण 5 दिसंबर को मुख्यमंत्री के आवास का घेराव करने की घोषणा की है।
संघ के अध्यक्ष चंद्रशेखर आजाद व मंत्री आशीष झा ने बताया कि मांगों के बावत पहले कृषि उत्पादन आयुक्त और इसके बाद विभागीय मंत्री के साथ उनकी यूनियन के नेताओं की हुई थी। प्रांतीय संघ ने मंत्री जी के आश्वासन देने पर 3 नवंबर से प्रस्तावित आंदोलन को स्थगित भी कर दिया गया था। 9 नवंबर को उत्तर प्रदेश कैबिनेट की बैठक हुई थी जिसे लेकर सफाई कर्मचारियों को पूरा विश्वास था कि इसमें उनकी पदोन्नति का फैसला हो जायेगा पर कैबिनेट इस मुददे पर मसट्ट मार गई। सफाई कर्मचारी इससे बेहद क्षुब्ध हैं। प्रदेश भर के 1 लाख सफाई कर्मचारियों ने 5 दिसंबर को मुख्यमंत्री आवास के घेराव का फैसला कर लिया है इसलिए मौका है कि 4 दिसंबर तक कैबिनेट सफाई कर्मचारियों के हितों की रक्षा का आदेश जारी कर दे।

Share Button

शहादत के मुकाम तक पहुंचने के बाद भी प्रेरकों का हौसला नही डिगा, पट्ठे मंगल को भी बैठे रहे भूख हड़ताल पर

उरई। आदर्श लोक शिक्षा प्रेरक शहादत के मुकाम तक पहुंचने के बावजूद संघर्ष का झंडा थामे रहकर जबर्दस्त दिलेरी दिखा रहे हैं। सोमवार को 8 भूख हड़ताली प्रेरक हालत बिगड़ जाने की वजह से अस्पताल में भर्ती कराये गये थे। जिसके बाद भी मंगलवार को 14वें दिन उन्होंने कलेक्ट्रेट परिसर में अपनी भूख हड़ताल को बदस्तूर जारी रखा।
लोक शिक्षा प्रेरकों के भूख हड़ताल में बीमार पड़ने के बाद प्रशासन को उनकी चिंता करनी पड़ गई थी। इसलिए उम्मीद यह थी कि आज बीएसए प्रदीप पाण्डेय उनके बीच पहुंचकर उन्हें ठोस आश्वासन देंगे। लेकिन पाण्डेय इलाहाबाद से दोपहर तक वापस नही लौट पाये थे। जिसको देखते हुए प्रेरकों ने भूख हड़ताल आज भी बरकरार रखी। इसमें जिलाध्यक्ष कालीदास तिवारी, संगठन मंत्री कल्पना भारती, कोषाध्यक्ष अनिल कुमार निरंजन, जालौन ब्लॉक के अध्यक्ष संदीप दुबे, अमित पचौरी, नरेंद्र निरंजन, सुनीता देवी, प्रियंका देवी, अनुराग मिश्रा, राजकुमार, बृजबिहारी, अजय कुमार, अजय कुमार भारती, नीलू बाथम और जीवन ज्योति शामिल रहे।

Share Button

लैंप गिरने से लगी आग में गृहस्थी खाक

कोंच। कैलिया थाना क्षेत्र के ग्राम पांड़ौरी में बीती रात्रि एक कच्चे घर में आग लगने से उस गरीब की पूरी गृहस्थी जल कर खाक हो गई। बताया गया है कि गांव के निवासी श्यामसुंदर रायकवार पुत्र चतुरी बहुत ही गरीब भूमिहीन मजदूर है। बीती रात उसकी पत्नी ने लैंप जलता छोड़ दिया और परिवार के सभी सदस्य सो रहे थे तभी अचानक किसी वक्त लैंप गिरा जिससे कपड़ों लत्तों ने आग पकड़ ली और देखते ही देखते उसकी पूरी गृहस्थी खाक हो गई। आगजनी में घर में रखा गेहूं, खानेपीने का सामान कपड़े, खाट आदि जल गये जिससे तकरीबन अस्सी हजार के नुकसान का अनुमान है। फायर को भी सूचना दी गई थी लेकिन वह मौके पर नहीं पहुंच सकी लिहाजा पड़ोसियों की मदद से आग पर काबू पाया जा सका।

Share Button

अधिशाषी अभियंता के खिलाफ लोक निर्माण भवन में गूंजे नारे, कर्मचारी नेताओं ने कहा कि बेहूदा हैं एक्सीएन

उरई। लोक निर्माण विभाग परिसर में मंगलवार को प्रांतीय खंड के अधिशाषी अभियंता के खिलाफ नारे गूंजते रहे। नियमित वर्कचार्ज कर्मचारियों ने अपनी समस्यायें हल न होने की वजह से आज हड़ताल में रौद्र रूप धारण कर लिया और तबियत से एक्सीएन को दिन भर गरियाया।
नियमित वर्कचार्ज कर्मचारी संघ के जिलाध्यक्ष रामकिशुन पाल और मंत्री रामजी लाल कनौजिया ने बताया कि मौजूदा एक्सीएन अत्यंत बेहूदा हैं। कर्मचारियों की जायज समस्यायें भी वे हल नही करना चाहते। इसलिए वे यूनियन के पदाधिकारियों के साथ वार्ता नही कर रहे। उनसे कुछ कहा जाये तो वे खौखिया उठते हैं। गाली-गलौज तक करने में संकोच नही करते। मंगलवार को यूनियन द्वारा उन्हें आंदोलन का नोटिस पहले से उपलब्ध करा दिया गया था। फिर भी जनाब नदारत हो गये। कर्मचारी नेताओं ने डीएम साहिबा से गुजारिश की कि वे एक्सीएन का व्यवहार सुधारें और हस्तक्षेप कर कर्मचारियों की समस्याओं का निदान करायें।

 

Share Button

खाद की दुकानों पर अधिकारियों के छापे से हडक़ंप

konch6
खाद की दुकान में वोरियों का स्टॉक चेक करते अधिकारी

* भूमि संरक्षण अधिकारी व एसडीएम ने तीन जगह डाला छापा, लिये खाद के नमूने
कोंच। खेती बाड़ी में खाद की बेतहाशा खपत को देखते हुये कहीं किसानों का शोषण तो नहीं हो रहा है, यही देखने के लिये मंगलवार को एसडीएम मोईन उल इस्लाम तथा भूमि संरक्षण अधिकारी सौरभ कुमार ने संयुक्त रूप से अभियान चला कर खाद की दुकानों पर छापा मारा जिससे खाद विक्रेताओं में हडक़ंप मच गया। अधिकारियों ने दो दुकानों और एक सहकारी समिति पर जाकर खाद का स्टाक चेक किया और अभिलेखों से उसका मिलान किया। तीनों जगह से उन्होंने खाद के नमूने भी लिये और दुकानदारों से कहा कि केवल निर्धारित रेट पर ही और सही माल ही किसानों को दें।
अधिकारियों का काफिला सबसे पहले ओम आयरन ट्रेडर्स नदीगांव रोड पर पहुंचा जहां उन्होंने गोदाम में जाकर खाद की बोरियों की गिनती कराई और बाद में अभिलेखों यानी स्टाक रजिस्टर से उसका मिलान किया तो स्टाक ठीक पाया गया। उन्होंने लाइसेंस और रेट सूची दुकान के बाहर टांगने के सख्त निर्देश दिये। यहां से डीएपी और उत्तम ब्रांड यूरिया के नमूने भरे। इसके बाद उन्होंने राजेश एंड ब्रदर्स की दुकान पर भी छापा मारा जहां स्टाक आदि मिलाने के बाद डीएपी का सैम्पुल लिया। अधिकारियों ने इन दुकानदारों से कहा कि किसानों के साथ किसी भी प्रकार की चीटिंग की शिकायत यदि मिली तो कड़ी कार्यवाही की जायेगी। खाद निर्धारित रेट पर बेचें और असली माल ही बेचें, मिलावटी या नकली पर कड़ी दंडात्मक कार्यवाही होगी। एलएसएस जुझारपुरा में भी अधिकारियों ने स्टाक आदि देखा और डीएपी का नमूना लेकर परीक्षण के लिये लैब भिजवाया।

Share Button

चौकिये नही जानिए एसबीआई की मैन ब्रांच के खातेदार पीएम मोदी से क्यों कर रहे हैं योग कक्षाएं लगवाने की मांग

उरई। चौकियें नही स्टेट बैंक की मुख्य शाखा के ग्राहकों को नोट बंदी से हो रही परेशानी का कोई मलाल नही है लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से उन्हें शिदद्त के साथ यह इल्तजा है कि वे स्टेट बैंक की यहां की मुख्य शाखा के कर्मचारियों के लिए योग कक्षायें लगवाने की पहल करें।
स्टेट बैंक की मुख्य शाखा में मंगलवार को भी ग्राहकों की भारी तादाद टूटी। लेकिन कर्मचारी कूल रहकर इन्हे संभालने की बजाय काम करने की नौबत आ जाने की वजह से आपा खोने को मजबूर दिख रहे थे। कई ग्राहकों ने कहा कि बैंक में रुपये जमा कराने या निकालने के लिए आना वेबजह की जलालत भोगने का पर्याय बन गया है। महिला ग्राहकों तक को नही बख्शा जा रहा। आज महिलाओं की कतार के पैसे लेने से अचानक काउंटर क्लर्क ने मना कर दिया तो हड़कंप मच गया बाद में सीनियर मैनेजर राजीव रंजन वर्मा ने किसी तरह व्यवस्था कर हालात को संभाला।
जानकारों का कहना है कि चुनौती पूर्ण स्थितियों में बैंक जैसी सॉफ्सिटीकेटिड जॉब करने वाले लोगों के अंदर धैर्य का गुण होना चाहिए। लेकिन वर्कलोड में यहां के कर्मचारी तनाव के शिकार हो रहे हैं। वे पीएम मोदी और वित्त मंत्री अरुण जेटली के खिलाफ बरबराते हुए काम कर रहे हैं। उन्होंने वर्क टू रूल जैसी हड़ताल की मुद्रा साध ली है जिससे ग्राहकों को लाइन में लंबी प्रतीक्षा करनी पड़ रही है। अगर कोई ग्राहक उन्हें टोक दे तो उनका गुस्सा भड़क जाता है। स्टेट बैंक की मैन ब्रांच में अगर यह सीन बरकरार रहा तो मोदी की पार्टी को आने वाले विधानसभा चुनाव में लेने के देने पड़ सकते हैं। इसीलिए पीएम से गुहार लगाई गई है कि वे बैंक कर्मचारियों का मनोरोग दूर करने के लिए योग गुरू बाबा रामदेव की सेवाएं लें जिससे खातेदारों को बेइज्जत होने से बचाया जा सके।

Share Button

खाता खोलने में अबैध बसूली की शिकायत पर बिफरे एसडीएम

konch3
इलाहाबाद बैंक केयोस्क शाखा के बैंक मित्र को हडक़ाते एसडीएम

* बैंक मित्र द्वारा प्रति खाता बीस से पचास रुपये बसूलने का आरोप
* बोले एसडीएम, अगर अबैध बसूली की तो होगी एफआईआर
कोंच। इलाहाबाद बैंक की केयोस्क शाखा में बैंक मित्र द्वारा खाते खुलवाने बालों से बीस से पचास रुपये तक की अबैध बसूली के आरोप लगे हैं। इस तरह की शिकायतों पर गंभीरता से संज्ञान लेकर एसडीएम मोईन उल इस्लाम ने आज केयोस्क शाखा में जाकर जब जनता के लोगों से पूछा तो शिकायत की पुष्टिï हुई जिस पर उन्होंने बैंक मित्र को जमकर हडक़ाया और कहा कि एक भी व्यक्ति से यदि अबैध बसूली गई तो उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज करा कर जेल भेज दिया जायेगा। बैंक मित्र ने भी बीस रुपये बीमा के नाम पर लिये जाने की बात स्वीकारी।
konch4शाखा में खाता खुलवाने बालों की लगी भीड़

स्थानीय जयप्रकाश नगर इलाके में मुख्य राजमार्ग पर इलाहाबाद बैंक की केयोस्क शाखा है जिसका संचालन बैंक मित्र अरुणकुमार सिंह द्वारा किया जाता है। प्रधानमंत्री के बिशेष निर्देश पर उन लोगों जिनके अभी बैंकों में खाते नहीं हैं, के खाते खोलने का एक अभियान चल रहा है जिसके चलते इस केयोस्क शाखा में हजारों की संख्या में लोग पहुंच रहे हैं, इनमें महिलाओं की संख्या ज्यादा है और चौबीसों घंटे खाते खोलने का काम किया जा रहा है। इस शाखा में एक सौ रुपये से खाते खोले जा रहे हैं लेकिन ग्राहकों से एक सौ बीस से लेकर एक सौ पचास तक बसूले जाने और सौ रुपये की रसीद दिये जाने की शिकायतें एसडीएम को मिलीं। एसडीएम आज केयोस्क शाखा पहुंच गये और बाहर भीड़ में महिलाओं से पूछा तो अतिरिक्त बसूली की बात उन्हें बताई गई। शाखा के अंदर जाकर एसडीएम ने बैंक मित्र को जब हडक़ाया तो उसके पसीने छूट गये और जब कोई जबाब देते नहीं बना तो कह दिया कि बीस रुपये बीमा के लिये जा रहे हैं। इस संबंध में एसडीएम ने मुख्य शाखा के शाखा प्रबंधक से जब बात की तो उन्होंने ऐसे किसी भी प्रावधान से साफ इंकार किया। फिलहाल, एसडीएम ने बैंक मित्र की तगड़े से खबर लेते हुये इस तरह की अबैध बसूली करने पर एफआईआर दर्ज करा कर जेल भिजवाने का अल्टीमेटम दे डाला। गौरतलब यह भी है कि अब तक लगभग तीन सौ खातों पर अबैध बसूली की जा चुकी थी जिन्हें लेकर एसडीएम ने कहा कि या तो यह पैसा लौटाओ या फिर उनके खातों में डालो।

konch5अरविंद अहिरवार
लिये डेढ सौ, रसीद सौ की
कोंच। इलाहाबाद बैंक की केयोस्क शाखा में से खाता खुलवा कर बाहर निकले अरविंद अहिरवार निवासी जयप्रकाश नगर कोंच से जब पूछा कि कितना पैसा लिया जा रहा है तो उन्होंने बताया कि उनसे डेढ सौ रुपये लिये गये हैं और रसीद सिर्फ सौ रुपये की दी गई है। इस तरह की धुंधमारी और आम जनता की खुलेआम लूटखसोट का बाजार सरेआम गर्म है लेकिन इस तरह का भ्रष्टïाचार तो व्यवस्था की रग रग में भरा है, मोदी कैसे इस तरह की भ्रष्टï व्यवस्थाओं से निपटेंगे, यह बड़ा सवाल आम लोगों के जेहन में भी कुलबुला रहा है।

Share Button

एसबीआई की आटा ब्रांच में सेंध, पीछे की खिड़की तोड़कर घुसे चोरों ने 70 हजार के कलदार किये पार

29orai02kउरई। कस्बा आटा स्थित स्टेट बैंक की शाखा में सोमवार और मंगलवार की दरमियानी रात अज्ञात चोरों ने सेंध लगा दी जिससे हड़कंप मच गया। भीतर घुसे चोरों ने चेस्ट तक पहुंचने की कोशिश भी की लेकिन इसमें वे कामयाब नही हो पाये अन्यथा बड़ी चोरी हो सकती थी।
आटा में स्टेट बैंक की शाखा के पिछवाड़े रेल लाइन है। जिसके कारण ट्रेन गुजरने पर गड़गड़ाहट में पीछे से कोई कुछ करे तो उसकी आहट सुनाई नही दे सकती। उस पर तुर्रा यह है कि बैंक के सीसीटीवी कैमरे रात में काम नही कर रहे थे। जबकि रात के लिए गार्ड की डयूटी व्यवस्था आलरेडी नही है।
29orai03kचोरों को शायद बैंक की स्थिति अच्छी तरह मालूम थी। इसलिए उन्होंने बैंक को निशाना बनाने का दुस्साहस किया। चोरों ने दो मंजिला बैंक भवन के ऊपरी फ्लोर पर खिड़की तोड़कर अंदर प्रवेश किया। उन्होंने बोरे में भरे कलदारों को सबसे पहले बटोरा। बैंक मैनेजर अरविंद दीक्षित ने बताया कि बोरे में 87 हजार 690 रुपये मूल्य के 10-10 के सिक्के थे जिसमें से 17 हजार 210 रुपये के सिक्के उन्होंने बैंक में ही छोड़ दिये। इस तरह लगभग 70 हजार के सिक्के उन्होंने पार किये। नगदी की तलाश में चोरों ने बैंक की चेस्ट तक पहुंचने के लिए उसके लोहे के गेट को तोड़ने की काफी जददोजहद की। जिसके निशान साफ देखे जा सकते थे। लेकिन चोरों की मेहनत सफल नही हो पाई। ऐसा लगता है कि उन्हें इस काम में इतनी मशक्कत करनी पड़ी कि सबेरा हो गया होगा जिससे कैश का मोह छोड़कर भागते भूत के लिए लगोटी ही भली की तर्ज पर वे सिर्फ कलदार लेकर चले गये जो बैंक के स्थानीय प्रबंधन के लिए काफी राहत दायक रहा।
बैंक मैनेजर सुबह जब डयूटी पर पहुंचे तब उन्हें इस चोरी का पता चला। उन्होंने थाने में सूचना दी तो पुलिस सकते में आ गई। कालपी के सीओ सुबोध गौतम और आटा एसओ विनोद मिश्रा मौके पर पहुंचकर आसपास काफी देर तक लोगों से बात करते रहे तांकि चोरों के बारे में कोई सुराग मिल सके। लेकिन फिलहाल वे इसमें कुछ हासिल नही कर पाये हैं।

Share Button

विश्व विकलांग दिवस 3 दिसंबर को-नरेंद्र अग्रवाल

* शासन द्वारा संचालित योजनाओं की दी जाएगी जानकारी
कोंच। ‘उन्नति दिव्यांग जन विकास समिति’ द्वारा आगामी 3 दिसंबर 2016 को विश्व विकलांगता दिवस का कार्यक्रम बस स्टैंड के पास बीआरसी परिसर में प्रात: 9 बजे से होगा जिसमें विकलांगजनों की समस्याओं को विंदुवार रखा जाएगा, यह जानकारी देते हुए दिव्यांग समिति अध्यक्ष नरेंद्र अग्रवाल ने बताया कि तमाम विकलांग साथियों को विश्व विकलांगता दिवस के अवसर पर शासन द्वारा संचालित योजनाओं की जानकारियां दी जायेगी और उनकी समस्याओं से संबंधित मांगपत्र शासन प्रशासन को भेजे जायेंगे। उन्होंने दिव्यांगजनों से भी अपील की है कि उस दौरान विकलांगों की समस्याओं को प्रमुखता से रखा जाए। इस के अलावा जिन विकलांगों की पेंशन नहीं बनी है उनके फार्म भरवाए जाएंगे तथा जिन विकलांगों का विकलांगता प्रमाण पत्र नहीं बना है उनके विकलांगता प्रमाण पत्र बनवाए जाने हेतु की समस्या को अंकित किया जाएगा। अध्यक्ष नरेंद्र अग्रवाल ने विश्व विकलांगता दिवस के कार्यक्रम में तमाम विकलांग साथियों से ज्यादा से ज्यादा संख्या में पहुंचने का अनुरोध किया है।

Share Button

एसडीएम सदर अक्षय त्रिपाठी के छापे से खाद विक्रेताओं में हड़कंप, दुकानें बंद करके हो गये फरार

29orai01kउरई। एसडीएम सदर ने एट में मंगलवार को खाद, बीज की निजी दुकानों में छापे मारी की। एसडीएम के छापे की खबर एट भर में जंगल की आग की तरह फैल गई। जिसके बाद दुकानदार अपनी दुकानों में शटर डालकर भाग निकले।
एसडीएम सदर अक्षय त्रिपाठी ने जिला कृषि अधिकारी राममिलन सिंह परिहार के साथ एट पहुंचकर खाद, बीज की निजी दुकानों पर छापे डाले। पहली दुकान पर एसडीएम के पहुंचते ही एट भर में शोर मच गया और सारे दुकानदारों में हड़कंप हो गया। उन्होंने छापे के दौरान दुकान से खाद के नमूने भरवाये। इस बीच अन्य दुकानदार अपने-अपने प्रतिष्ठान बंद करके भाग निकले। बाद में एसडीएम अक्षय त्रिपाठी ने बताया कि किसानों के साथ शोषण और कपट को बर्दास्त नही किया जायेगा। मिलावटी खाद, बीज की बिक्री की किसी भी आशंका को कड़ाई से कुचला जायेगा।

Share Button

जब अपात्र हटेंगे तभी तो पात्र बढेंगे-आपूर्ति निरीक्षक

konch1
नवागंतुक आपूर्ति निरीक्षक अखिलेशकुमार सरोज

* ‘अपात्रों को कौन हटाये’ में फंसा है पात्रों को सूची में शामिल कराने का पेंच
कोंच। सरकार ने गरीबों को नाममात्र के मूल्य पर खाद्य सामग्री उपलब्ध कराने के लिये खाद्य सुरक्षा योजना लागे की है लेकिन पात्रों के चयन में हुई भारी गड़बडिय़ों के चलते अभी भी हजारों पात्र पात्रता सूची में आने के लिये तरस रहे हैं। इस बड़े सवाल को लेकर नवागंतुक क्षेत्रीय खाद्य अधिकारी अखिलेशकुमार सरोज से जब बात की गई तो उन्होंने कहा कि अंत्योदय और पात्र गृहस्थियों का कोटा फिक्स है और जब तक अपात्र हटेंगे नहीं तब तक पात्र सूची का हिस्सा बन नहीं सकते।
यहां क्षेत्रीय खाद्य अधिकारी रहे रामस्वरूप का तबादला उरई हो जाने के बाद नये अधिकारी के तौर पर अखिलेशकुमार सरोज ने आकर पद भार ग्रहण कर लिया है। पात्र गृहस्थियों का हिस्सा बनने से रह गये तमाम गरीबों के नाम सूची में दर्ज करने को लेकर उन्होंने कहा कि जब अपात्रों के नाम सूची से हटेंगे तभी तो पात्रों के नाम बढ सकेंगे। उन्होंने नगरीय क्षेत्र में अपात्रों की सूचना देने की जिम्मेदारी पालिका कर्मियों की बताते हुये कहा कि जब पात्रों की सूची उन्होंने दी है तो अपात्रों के नाम भी बताने की जिम्मेदारी उन्हीं की है। उन्होंने बताया कि अंत्योदय और पात्र गृहस्थियों का टारगेट 2011 की जनसंख्या के आधर पर तय किया गया है जिसमें शहरी क्षेत्र के लिये 46.43 प्रतिशत तथा ग्रामीण क्षेत्र के लिये 79.56 प्रतिशत है। जब उन्हें बताया गया कि शहरी क्षेत्र में पालिका कर्मी जिन्होंने पात्रों का चयन किया था, से जब अपात्रों की जांच कर उन्हें हटाने के लिये कहा गया तो उनका कहना था कि आपूर्ति विभाग हटाये। इस पर क्षेत्रीय खाद्य अधिकारी सरोज ने दो टूक कहा कि जब पात्रों का चयन पालिका कर्मियों ने किया है तो अपात्रों की सूची भी वही दें तभी उनके नाम हटा कर पात्रों के नाम जोड़े जा सकते हैं।

konch2राशन कार्डों को बांटते छोटू टाईगर
वितरण घर घर नहीं, नेताओं को थमाये राशन कार्ड
कोंच। खाद्य सुरक्षा योजना के राशन कार्डों का वितरण त्रुटि रहित बनाने के लिये शासन से साफ तौर पर निर्देश दिये गये हैं कि इनके वितरण की व्यवस्था में सरकारी कर्मचारी ही लगाये जायें, किसी प्राइवेट व्यक्ति या कोटेदार को ये कतई न सौंपे जायें लेकिन यहां का काम अभी भी उपकृत करने के आधार पर चल रहा है। पालिका कर्मचारियों को घर घर राशन कार्ड बांटने की जो जिम्मेदारी दी गई थी उसके विपरीत सत्तादल के नेताओं और पालिका सभासदों को उपकृत किया जा रहा है। जवाहर नगर बार्ड संख्या 11 में समाजवादी पार्टी के युवा नेता छोटू टाईगर अपने हाथों में ये कार्ड थामे और मोहल्ले में वितरित करते दिखाई दिये जो शासकीय आदेशों निर्देशों की खुली अवहेलना है। इस तरह तो अगर पात्रों तक कार्ड नहीं पहुंचते हैं तो जिम्मेदारी लेने के लिये कौन आगे आयेगा?

Share Button

दुनियां की मेहनतकश जनता के मसीहा थे कास्त्रो, उनके निधन से बुझा उम्मीदों का दिया

उरई। विश्व साम्राज्यवाद के खिलाफ संघर्ष के महानायक क्यूबा के पूर्व राष्ट्रपति फिदेल कास्त्रो के निधन पर भारतीय जन नाट्य संघ (इप्टा) एवं प्रगतिशील लेखक संघ ने भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की। शिक्षा सृजन स्कूल में आयोजित गोष्ठी में वक्ताओं ने उन्हें शोषित, पीड़ित, मानवता का महान मसीहा बताया।
गोष्ठी को संबोधित करते हुए शिक्षा सृजन के प्रबंध निदेशक कॉ. जाकिर आजमी ने कहा कि कास्त्रो न केवल क्यूबा बल्कि समूची लातिन अमेरिकी देशों और दुनियां भर में मेहनतकश जनता की मुक्ति के लिए जीवन भर संघर्ष किया। कॉ. देवेंद्र शुक्ला ने कहा कि दक्षिणपंथी तानाशाही की ओर बढ़ रहे भारत के लिए आज फिदेल कास्त्रों के आदर्श पहले से ज्यादा प्राशंगिक हो गये हैं।
प्रलेश के अध्यक्ष डॉ. बाबू रामाधीन ने फिदेल कास्त्रो को भारत में मानवीय मूल्यों के लिए संघर्षरत नई पीढ़ी के लिए प्रेरणा स्रोत बताया। इप्टा के सचिव राज पप्पन ने कहा कि फिदेल कास्त्रो के निधन से विश्व सर्वहारा आंदोलन को गहरा धक्का लगा है। कॉ. संजीव ने अन्याय और गैर बराबरी के खिलाफ समूची दुनियां संघर्षरत लोगों के लिए प्रकाश स्वतंत्र बने रहेंगे। गोष्ठी को डॉ. रामप्रताप सिंह एवं हृदेश त्रिपाठी ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर बड़ी संख्या में बुद्धिजीवी एवं विद्धान मौजूद रहे।

Share Button