तीन युवकों ने लगाई फांसी, दो की मौत, एक की हालत गंभीर

Mono Krishna News Orai*कोटरा में आर्थिक तंगी से जूझ रहे युवक ने फांसी लगाकर दी जान
*जालौन में युवक ने फांसी लगाकर किया खुदकुशी का प्रयास
उरई। जनपद में अलग-अलग जगहों पर तीन युवकों ने फांसी लगाकर खुदकुशी का प्रयास किया। जिसमें दो युवकों की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि एक की हालत गंभीर है। जिसका जिला अस्पताल में उपचार चल रहा है। पुलिस ने मृतक युवकों के शवों का पंचनामा भर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।
उरई कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला प्रेमनगर निवासी शान अली 28 वर्ष पुत्र जीशान जुबैर प्लाई वालों के यहां किराये से रहता था। सोमवार की रात शान अली ने अज्ञात कारणों के चलते अपने कमरे में लगे पंखे के कुंदे में रस्सी का फंदा बनाकर गले में डज्ञल लिया और खुदकुशी कर ली। सुबह जब वह कमरे से बाहर नहीं निकला तो परिजनों ने अंदर जाकर देखा। जहां पर फांसी के फंदे पर उसका शव लटक रहा था। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव का पंचनामा भर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। वहीं कोटरा थाना क्षेत्र के ग्राम ऐंधा में बुद्धु 35 पुत्र लक्ष्मण अहिरवार ने भी मंगलवार की सुबह अपने घर के बाहरी कमरे में फांसी का फंदा बना लिया और उस पर लटक गया। इससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। जब परिजनों ने यह द ेखा तो उनके होश उड गए। इसकी जानकारी पुलिस को दी गई। मौके पर पहुंची थाना पुलिस ने छानबीन की। छानबीन के दौरान पता चला है कि युवक बेरोजगार था और काफी समय से आर्थिक तंगी से जूझ रहा था। इसके चलते उसने खुदकुशी कर ली। वहीं जालौन के मोहल्ला तोपखाना में भी किशन पाल 37 वर्ष पुत्र पंचम लाल ने खुदकुशी के इरादे से अपने गले में फांसी का फंदा डाल लिया। इसी दौरान परिजनों ने उसे देख लिया और आनन-फानन में उसे फांसी के फंदे से नीचे उतारकर उपचार के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले गए। जहां पर उसकी हालत नाजुक होने के कारण जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया।

Share Button

अवैध रूप से डालडा घी ले जा रही पिकप पकड़ी

Mono Krishna News Oraiजालौन। अवैध रूप से डालडा घी के टीन लादकर जा रही पिकप को आयकर विभाग ने कोंच चौराहे पर पकड़ लिया और कानूनी कार्रवाई कर माल सहित गाड़ी को थाने में बंद किया।
होली का त्यौहार आते ही कारोबारियों का अवैध रूप से मुनाफा कमाने का सिलसिला जोरों से शुरू हो गया है। व्यापारी दुकानदार पहले से ही स्टाक को पूरा करने के लिए अभी से लग चुके हैं। ये लोग सारे नियम-कानून ताक पर रख कर अपने धंधे से अधिक मुनाफा कमाने के लिए लए हुए हैं। इतना ही नहीं इसके लिए वह कर चोरी कर सरकार को चूना लगा रहे हैं। आयकर विभाग उरई को सूचना मिली कि औरैया की ओर से एक पिकप गाड़ी में मानक से ज्यादा माल लदकर आ रहा है। सूचना पर मौके पर पहुंची सचल दल टीम ने कोंच चौराहे के पास पिकप गाड़ी को रोककर कर उससे कागज मांगे जिस पर चालक द्वारा कागजात दिए गए 60 डालडा के टीन दर्शाए गए थे लेकिन उक्त गाड़ी में 64 डालडा के टीन तथा आधा सैकड़ा के आसपास गत्ते में बंद घी मिला जो मानक के विरुद्ध था। सचल दल ने माल सहित गाड़ी को थाने में बंद कर दिया।

Share Button

प्रधान ने की अवैध कब्जा हटवाने एवं विद्युत समस्या दूर कराने की माँग

Mono Krishna News Oraiमऊरानीपुर से रवि परिहार
मऊरानीपुर (झॉसी) 28 फरवरी। पूर्व समग्र ग्राम पठा मे सार्वजनिक जमीन व चकरोड पर अवैध कब्जा हटवाने व ग्राम मे 6 माह पूर्व से खराब चल रही विद्युत आदि समस्याओं की शिकायत एसडीएम को देकर प्रधान द्वारा की गयी। विवरण के अनुसार तहसील क्षेत्र के ग्राम पठा प्रधान जयन्ती देवी ने उपजिलाधिकारी को दिये शिकायती पत्र मे बताया कि 6 माह से अधिक समय से तार टूटकर बिखरे पडे है। व क्षतिग्रस्त खम्बे तो लगाये गये लेकिन विधुत व्यवस्था बहाल नही हुयी। जिससे गॉव की आधी आवादी अन्धेरें मे वहीं कार्यदाही संस्था द्वारा किया गया नया विधुतिकरण एक वर्ष से अधिक समय गुजर जाने के बाद भी सप्लाई चालू नही हुयी है। दूसरें शिकायती पत्र मे ग्राम सभा की जमीन , नाला ,शमशान घाट ,चकरोड आदि पर ग्राम के ही दंबग किस्म के व्यक्तियों द्वारा अनाधिकृत तरीके से अवैध कब्जा कर लेनें से आवागमन प्रभावित बना हुआ है। दिये गये पत्र मे खराब पडी विधुत व कब्जा हटवायें जाने की मॉग की।

Share Button

50 साल की महिला का 20 वर्षीय युवक के साथ चला चक्कर दोनों रफू चक्कर

Mono Krishna News Oraiमऊरानीपुर से रवि परिहार
*पति की तहरीर पर मामला दर्ज
*युवक पहले ही से रिस्तेदार है
मऊरानीपुर (झॉसी) 28 फरवरी। एक अधेड महिला 20 वर्षीय युवक के साथ रफू चक्कर हो गयी। काफी खोजवीन करने के बाद भी कोई पता न लगने पर अधेड महिला के पति द्वारा कोतवाली पुलिस को दी तहरीर पर मामला दर्ज कर लिया गया। जानकारी के अनुसार ग्राम स्यावारी निवासी भगवान दास की पत्नि जशोदा देवी आदिवासी (50) 16 फरवरी की शाम लगभग 6 बजे अपने घर से जेवरात व नगदी लेकर उल्दन निवासी राजू पुत्र पुनू (20) जो रिस्तेदार है। वह बहला फुसलाकर 50 वर्षीय महिला के लेकर भाग गया। केतवाली पुलिस ने पति की तहरीर पर मामला दर्ज कर खोजवीन शुरू कर दी।

Share Button

ऋण वितरण समारोह आयोजित

Mono Krishna News Oraiमऊरानीपुर से रवि परिहार
मऊरानीपुर (झॉसी) 28 फरवरी। सर्व यूपी ग्रामीण बैंक गॉन्धीगंज मऊरानीपुर मे क्षेत्रीय प्रबन्धक नावार्ड के डीडीएस अजय सोनी वित्तीय समालन के बैंक प्रबन्धक निहाल चन्द्र शिवहरे की उपस्थिति मे ऋण वितरण समारोह आयोजित किया गया। जिसमे स्वीकृत लोगों को श्रृण दिया गया। मऊरानीपुर शाखा प्रबन्धक गणेश , भण्डरा शाखा प्रबन्धक अशोक अग्रवाल , सर्राफा बाजार प्रबन्धक शाखा हुकुमचन्द्र की मौजूदगी मे 67 श्रृण लाभार्थियों को लगभग ढेड करोड वितरित किया गया। आगन्तुक बैंक अधिकारियों ने श्रृण धारकों को डेली विकास , प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना , प्रधानमंत्री ज्योति बीमा योजना आदि की जानकारी देने के अलावा बताया कि शाखाओं से जुडें सभी ग्राहक कैशलेश एवं एटीएम के लिए आवेदन करे। तथा साथ मे वर्तमान फसल बीमा के बारे मे बताया कि बीमा अवश्य करा ले । ताकि दैवीय आपदाओं से बचा जा सके। कार्यक्रम मे आये हुए अतिथियों का आभार गणेश कुमार ने व्यक्त किया।

Share Button

मेरी सेहत, मेरा निर्णय कार्यक्रम में छात्राओं को किया जागरूक

IMG-20170228-WA0142Mमऊरानीपुर से रवि परिहार
मऊरानीपुर (झॉसी) 28 फरवरी। राजकीय कन्या इण्टर कॉलेज मे मेरी सेहत ,मेरा निर्णय कार्यक्रम के तहत कक्षा 8 से 12 तक की छात्राओं को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक किया गया। कार्यक्रम के तहत डा0 संजय सिंह , हेमलता आदि ने अपने सम्बोंधन के माध्यम से बताया कि शादी की उम्र क्या है। बच्चे कब पैदा करना चाहिए , दो बच्चों के बीच मे 3 वर्ष के अन्तराल का महत्व व मासिक धर्म का महत्व , साफ सफाई की जानाकरी , किशोरी मे उम्र के अनुसार हो रहे बदलाव की जानकारी । सावधानी तथा समाज मे फैली रीति रिवाज से छुटकारा पाने के तरीके व सुझाव बताये। तथा इस कार्यक्रम मे प्रशिक्षित हेमलता ने सभी विषयों पर विस्तार से जानकारी दी। तथा इस मौके पर कुछ छात्राओं को पुरूष्कृत भी किया गया। कार्यक्रम मे मोहनी गजया , रामनिवास पाण्डें , प्राचार्य ,बन्दना वर्मा आदि मौजूद रहे।

Share Button

विक्षिप्त महिला ने खुद को आग लगाई

Mono Krishna News Oraiमऊरानीपुर से रवि परिहार
मऊरानीपुर (झॉसी) 28 फरवरी। मानसिंक रूप से विक्षिप्त महिला ने खुद को आग लगा ली। जिससे वह बुरी तरह झुलस गयी। आनन फानन मे परिजन उपचार के लिए स्वास्थ्य केन्द्र लायें। जहॉ पर प्राथमिक उपचार के बाद झॉसी रिफर कर दिया। जानकारी के अनुसार ग्राम भकौरा निवासी रंजना पत्नि हरचरण अहिरवार (40) काफी समय से मानसिंक रूप से विक्षिप्त थी। उसका उपचार चल रहा था। तथा मंगलवार की सुबह लगभग 5 बजे जब परिजन सो रहे थे। तभी वह घर के वाहर शौच के लिए गयी। तथा वापस घर जाकर आंगन मे मिटटी का तेल डालकर खुद को आग के हवालें कर दिया। चीख पुकार सुन परिजन जाग उठें तथा किसी तरह आग पर काबू पाया। तथा उसे झुलसी हुयी अवस्था मे सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र लाया गया। जहॉ पर प्राथमिक उपचार के बाद चिकित्सक ने झॉसी रिफर कर दिया। हालत गम्भीर होने पर उसे ग्वालियर भेजा गया। परिजनों के अनुसार महिला का उपचार चल रहा है। तथा हालत स्थिर बनी हुयी है।

Share Button

राष्ट्रीयकृत बैंकों के कर्मचारी छह सूत्रीय मांगों को लेकर हड़ताल पर

28orai03 (1)U नारेबाजी करते स्टेट बैंक के कर्मचारी
*बैंक कर्मचारिंयों को हड़ताल का रास्ता मजबूरी में चुनना पड़ा- आंचलिक सचिव राकेश त्रिपाठी
* करोड़ों का लेन-देन प्रभावित
*ग्राहकों को करना पड़ा परेशानियों का सामना 
उरई। छह सूत्रीय मांगों को लेकर मंगलवार को जिले के सभी राष्ट्रीयकृत बैंकों के कर्मचारी हड़ताल पर रहे। कर्मचारियों ने अपनी मांगों को लेकर केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इस दौरान उन्होंने अपनी मांगें पूरी किए जाने की मांग भी की। कर्मचारियों की हड़ताल से करीब छह करोड़ रुपए का लेन-देन प्रभावित हुआ है।
लंबे समय से मांगों को लेकर संघर्ष कर रहे राष्ट्रीयकृत बैंक कर्मचारियों के सब्र का बांध मंगलवार को टूट गया और राष्ट्रीय नेतृत्व के आह्वान पर वह मंगलवार को सडकों पर उतर आए। कर्मचारियों की मांग है कि सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों के अनुसार ग्रेच्युटी का भुगतान बैंकिंग क्षेत्र में 20 लाख रुपए किया जाए। नोटबंदी के समय अतरिक्त काम का ओवर टाइम मिले, आईबीए से ग्वारहवें वेतन के लिए प्रक्रिया शुरू की जाए। केंद्रीय कर्मचारियों की तरह बैंकों में अनुकंपा नियुक्ति का प्रावधान हो। पेंशन व फैमिली पेंशन बढ़ाई जाए। एनपीएस की जगह पुरानी पेंशन योजना शुरू हो। रिटायर हो रहे कर्मचारियों के खाली पद भरे जाएं जिससे युवाओं को नौकरी मिल सके। इस दौरान कर्मचारियों ने धरना देकर अपना विरोध जताया। धरने में भारतीय स्टेट बैंक स्टाफ एसोसिएशन के आंचलिक सचिव राकेश त्रिपाठी ने कहा कि लगातार मांगो के सम्बन्ध में बार्ता करने के बाद भी सरकार द्वारा नकारात्मक रुख से मजबूरी में बैंक कर्मचारिंयों को हड़ताल का रास्ता चुनना पड़ा है अगर सरकार ने अपना रुख न बदला तो हमारी लड़ाई जारी रहेगी। धरने में उरई मुख्य शाखा के सचिव सुरेश दुबे, अमित राजपूत, शिवकुमार गुप्ता, अनुराग दुबे, श्रीराम श्रीवास, बृजबिहारी, लेखराज वर्मा, निशांत गुप्ता आदि के साथ शिक्षक मोर्चा के लाल सिंह चौहान की उल्लेखनीय उपस्थिति रही । कर्मचारियों की इस हड़ताल से ग्राहकों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। इससे एक दिन में करीब छह करोड़ रुपए का लेनदेन प्रभावित होने का अनुमान लगाया गया है।

Share Button

श्रीमद भागवत कथा के श्रवण से भक्त के कष्ट होते है दूर -प्रिया किशोरी

IMG_20170226_173537UIMG_20170226_173549Uकालपी (जालौन ) नगर के नेशनल हाइवे रोड किनारे स्थित दुर्गा मन्दिर प्रांगण कालपी धाम मे चल रही श्री मदभागवत कथा के पॉचवे दिन कथा बाचक प्रिया किशोरी ने भक्तजनो को कृष्ण लीला की कथा सुनाते हुए वताया कि जिसकी जैसी भावना होती है भगवान उसी स्वरुप मे दर्शन देते है ! गोस्वामी तुलसीदास ने कहा कि श्श्जाकी रहे भावना जैसी, प्रभु मूरत देखि तिन जैसी श्श् भक्त ईश्वर को भजता है तो भगवान उसकी मदत करते है ! जो भक्त मन से कथा काश्रवण करता है उसके सारे कष्ट दूर होते है !
श्रीमदभागवत ज्ञान यज्ञ मे कथा वाचक प्रिया ने भक्तो को कथा सुनाते हुए कहा कि संसार का प्रत्येक जीव यदि श्रृध्दा से ईश्वर का ध्यान करता है तो ईश्वर भी अपने जीव की रक्षा करते है ! जव तालाव मे ग्राह ने गज को पकड लिया तो गजराज ने प्रभु का ध्यान किया तव प्रभु ने उसकी मदत की ! उसी तरह महाभारत मे द्रोपदी अपना सव कुछ हार गयी थी उन्होने भगवान कृष्ण का ध्यान किया तो भगवान ने उनकी रक्षा की ! उन्होने कहा कि कलयुग मे श्रीमद भागवत कथा को सुनने से भक्तजनो के कष्ट दूर होते है तथा पापों से मुक्ती मिलती है हमे मोह माया के वंधनों से हटकर प्रभु का ध्यान करे तो निश्चित भवसागर पार होजायेगे ! कथा समाप्ति के उपरान्त बडे स्थान के महन्त रामकिशोर दास व महन्त इन्दिराबाई की उपस्थित मे मन्दिर के पुजारी राजेन्द्र द्विवेदी व सन्तोष राठौर, देवेन्द्र अवस्थी धर्मसिह यादव ने प्रसाद वितरण किया।

Share Button

बैंक बंद और एटीएम भी बंद, परेशान रहे लोग

konch3
बंद पड़ा सेंट्रल बैंक

कोंच। अपनी मांगों को लेकर मंगलवार को देशव्यापी हड़ताल पर गये बैंक कर्मचारियों ने बैंक शाखाओं में तालाबंदी कर दी जिसके कारण लोगों का पैसा नहीं निकल सका और वे परेशान हाल घूमते नजर आये। कुछ बैंकों के तो एटीएम भी बंद पड़े रहे जिन्होंने कोढ में खाज फैलाने का काम किया।
सभी राष्टï्रीयकृत बैंक शाखायें मंगलवार को अपने राष्टï्रीय संगठनों के आह्वïान पर हड़ताल पर चले गये और बैंक शाखाओं में ताले लटक गये। पांच दिन बैंक बंद रहने के बाद जैसे तैसे सोमवार को बैंक खुले तो वहां काफी भीड़ भाड़ रही। लोगों को उम्मीद थी कि एकाध दिन में बैंकों का काम काज पटरी पर लौट आयेगा लेकिन मंगलवार को फिर बैंक शाखाओं में तालाबंदी ने ग्राहकों को परेशान करके रख दिया। हालांकि यूनियनों ने एटीएम खुले रखने की बात कही थी और कुछ बैंकों के एटीएम खुले भी किंतु अधिकांश बैंकों के एटीएम भी तालाबंदी के शिकार रहे जिससे लोगों की परेशानियां और भी बढती नजर आईं।

konch4स्थानीय नागरिक दिनेश राठौर
बैंकों की हड़ताल का असर छोटे मोटे दुकानदारों पर भी पड़ा, पैसा निकालने सेंट्रल बैंक की स्थानीय शाखा में गये दिनेश राठौर को बैरंग बापिस लौटा पड़ा। उनका कहना था कि कभी सरकार की नोटबंदी तो कभी बैंक यूनियनों की मनमानी का शिकार आम नागरिक हुआ और उसके चार महीने भारी परेशानियों में गुजरे हैं। उन्होंने कहा है कि बैंकें आम जिंदगी का हिस्सा हैं और इनसे लोगों को रोज ही काम पड़ता है लिहाजा इस तरह की हड़तालों पर बैन लगना ही चाहिये ताकि आम जिंदगी पटरी पर बनी रहे।

Share Button

गर्मी आते ही पानी की किल्लत से जूझने लगे हैं बाशिंदे

* कस्बे में दर्जनों हैंडपंप पड़े हैं खराब
* कई इलाकों में पाइप लाइन नहीं होने के कारण पानी नहीं मिलने की शिकायत
कोंच। जैसे जैसे बैरोमीटर में पारा ऊंचाई पकड़ रहा है, पेयजल संकट गहराने लगा है। कस्बे की ही अगर बात की जाये तो दर्जनों हैंडपंप दम तोड़ चुके हैं और कई इलाकों में पाइप लाइनें नहीं बिछी होने के कारण पेयजल की अनुपलब्धता बनी हुई है। जल संस्थान के पास तो यही हिसाब नहीं है कि कस्बे में कुल कितने हैंडपंप स्थापित हैं और कितने खराब हैं।
कस्बे के बीच बाजार डाकघर के बाहर लगा हैंडपंप पिछले एक माह से खराब पड़ा है। दुकानदारों ने कई बार शिकायत भी की लेकिन सुनने बाला कोई नहीं है। पालीवाल मार्केट के पास फरफरा देवी मंदिर के पास लगा हैंडपंप भी तकरीबन एक साल से खराब है और दो माह पूर्व जल संस्थान कर्मी इसकी मशीनें आदि भी निकाल ले गये, इस स्थिति में उस इलाके में पेयजल संकट की गंभीरता को समझा जा सकता है। कल्याणराय मंदिर के सामने लगा हैंडपंप भी कई महीनों से पानी देना बंद कर चुका है जिसके चलते आसपास के लोगों को और वहां के दुकानदारों को भी पानी नहीं मिल पा रहा है। मानिक चौक में महिला पेशाबघर के पास लगा हैंडपंप भी तीन माह से खराब पड़ा है लेकिन कई बार लिखित शिकायत और फोन पर सूचना देने के बाद भी जल संस्थान ने इसकी मरम्मत पर संज्ञान नहीं लिया है। इधर, नईबस्ती में सोमनाथ मंदिर के पास लगा हैंडपंप भी दम तोड़ चुका है, इसके अलावा जयप्रकाश नगर में घनी आबादी होने के बाबजूद वहां हैंडपंप स्थापित नहीं होने से भीषण पेयजल किल्लत का आलम बना हुआ है, इलाके में केवल एक हैंडपंप है जिस पर सबेरे से ही मूड़ फुटौव्वल होती है। उधर, मारकंडेयश्वर तिराहे से आगे पालिका क्षेत्र के बाहर नया गांधीनगर इलाके में मेन रोड पर तो पाइप लाइन बिछी है लेकिन आबादी में नहीं बिछी होने के कारण वहां पेयजल की किल्लत इसलिये भी है कि वहां कोई हैंडपंप स्थापित नहीं है। हैरान करने बाली बात यह है कि पेयजल व्यवस्था का जिम्मा ओढने बाला जल संस्थान विभाग यहां तक बता पाने की स्थिति में नहीं है कि कस्बे में कितने हैंडपंप लगे हैं और कितने खराब हैं।

konch6सभासद अवनेश तिवारी
पालिका के सभासद अवनेश तिवारी कहते हैं कि जल संस्थान विभाग अपनी जिम्मेदारी से मुंह मोड़ रहा है जिसके चलते नागरिकों को पानी की जबर्दस्त किल्लत से जूझना पड़ रहा है। उन्होंने बताया कि जयप्रकाश नगर मोहल्ले में केवल एक हैंडपंप स्थापित है जिस पर सबेरे सबेरे कमोवेश सैकड़ा भर लोग पानी के लिये रोज ही झगड़ा करने पर आमादा रहते हैं। कई दफा जल संस्थान और जल निगम को इस समस्या के बारे में अवगत कराया जा चुका है लेकिन अभी तक वहां हैंडपंप नहीं स्थापित होना समस्या को और भी विकराल बना रहा है।

konch7स्थानीय निवासी सुनील कुशवाहा
मारकंडेयश्वर तिराहे से लगते नया गांधीनगर इलाके के रहने बाले सुनील कुशवाहा का कहना है कि उरई रोड पर मुंसिफी की तरफ पाइप लाइन बिछी है लेकिन दक्षिण की तरफ बाली आबादी जहां लगभग तीन हजार लोग रहते हैं, में पाइप लाइन नहीं बिछी होने के कारण वहां पानी की घोर किल्लत है। इलाके में केवल एक ही हैंडपंप है जो गरीबों को पानी की आपूर्ति सुनिश्चित करने में खुद को असमर्थ पा रहा है। उन्होंने बताया कि इस बाबत वह न केवल विभाग को बल्कि पालिका प्रशासन को भी अवगत करा चुके हैं।
konch8पालिका चेयरपर्सन प्रतिनिधि विज्ञान विशारद सीरौठिया
पालिका चेयरपर्सन प्रतिनिधि विज्ञान विशारद सीरौठिया का कहना है कि उन्होंने भी कई बार जल संस्थान को सारी स्थिति से अवगत कराया है लेकिन हैंडपंपों का नहीं ठीक होना बाकई हैरानी बाली बात है। मारकंडेयश्वर से लगते नया गांधीनगर इलाके में पाइप लाइन को लेकर भी उन्होंने बताया कि यद्यपि यह इलाका पालिका सीमा क्षेत्र से बाहर है लेकिन इलाकाई लोगों की मांग को लेकर आये पत्र के साथ उन्होंने कवरिंग लैटर लगा कर जल संस्थान के उच्च अधिकारियों को भेजा है और आश्वासन भी मिला है कि जल्दी ही लाइन बिछ जायेगी। उन्होंने यह भी बताया कि पालिका की ओर से सौ हैंडपंप स्थापित करने की डिमांड भेजी गई थी जिसमें 84 स्वीकृत हो चुके हैं, आचार संहिता खत्म होने के बाद संभवत: इनकी स्थापना का कार्य शुरू हो जायेगा।

Share Button

महीना होने को, फिर भी खुले आम घूम रहे हैं हत्याभियुक्त

konch1 (1)
सीओ के यहां प्रार्थना पत्र देने पहुंचे जमरोही कलां के ग्रामीण

* मामला दलित की हत्या के आरोपियों की गिरफ्तारी में पुलिस पर टाल मटोल का आरोप
कोंच। तकरीबन एक माह पूर्व सर्किल के एट थाना क्षेत्र के ग्राम जमरोही कलां में दलित अधेड़ भगवानदास की हत्या की सनसनी खेज वारदात के बाद जहां गांव में अभी भी लोग दहशत से उबर नहीं पाये हैं वहीं हत्याभियुक्तों के छुट्टा घूमने से मृतक के परिजनों में भय व्याप्त है। मृतक के बेटे लखपतसिंह ने डीआईजी को पत्र भेज कर पुलिस द्वारा अभियुक्तों की गिरफ्तारी में टाल मटोल का आरोप लगाया है, मंगलवार को उसने गांव के अन्य लोगों के साथ यहां सीओ कार्यालय के बाहर मीडिया को भी इस पत्र की प्रतियां देकर अपनी व्यथा बताई और बाहर घूम रहे अभियुक्तों की शीघ्र गिरफ्तारी की मांग की है।
गौरतलब है कि गुजरी 15 जनवरी 2017 को एट थाना क्षेत्र के ग्राम जमरोही कलां में पूर्व प्रधान ज्ञानसिंह कुशवाहा ने अपने साथियों मानवेन्द्र पुत्र राज बहादुर ठाकुर निवासी मड़ोरा थाना पूंछ आदि के साथ मिल कर अपने ही घर में नृशंस हत्या कर दी थी और लाश को गांव के तालाब के किनारे पर ठिकाने लगा दिया था। दिलचस्प यह है कि दो दिन तक भगवानदास की लाश पूर्व प्रधान के घर में ही रही और दो दिन बाद रात के किसी वक्त उक्त लाश को ठिकाने लगाया गया था। हालांकि बाद में सारा मामला खुल कर सामने आ गया था और लाश भी बरामद कर ली गई थी। मृतक के पुत्र लखपतसिंह की तहरीर पर एट थाना पुलिस ने पांच लोगों ज्ञानसिंह कुशवाहा पुत्र घनाराम, रामकुमार, शिवकुमार पुत्रगण ज्ञानसिंह, पंकज पुत्र महाराजसिंह निवासी ग्राम जमरोही कलां तथा मानवेन्द्र पुत्र राजबहादुर निवासी ग्राम मड़ोरा थाना पूंछ जिला झांसी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ज्ञानसिंह व मानवेन्द्रसिंह को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था लेकिन तीन अभियुक्त अभी भी खुले में घूम रहे हैं और मृतक के परिजनों को धमका रहे हैं जिसके कारण उनमें भय व्याप्त है। मृतक के बेटे लखपत ने अनुसूचित जाति/ जन जाति आयोग दिल्ली और लखनऊ के अलावा डीआईजी और पुलिस अधीक्षक को पत्र भेज कर सीओ पर सीधा आरोप लगाया है कि वे अभियुक्तों को बचाने का प्रयास कर रहे हैं।
konch2मृतक का भाई इंद्रपालसिंह
आखिर पुलिस क्यों नहीं दर्ज कर रही हत्या का मुकदमा
* मटर के चौदह लाख के भुगतान का तगादा करने को लेकर हुई थी हत्या
* अधेड़ की मौत के बाद आरोपी सीएचसी में छोड़ भागे थे लाश
कोंच। गुजरी 18 फरवरी की सुबह सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में कुछ लोग एक अधेड़ की लाश छोड़ भागे थे, उक्त लाश कोतवाली क्षेत्र के ग्राम खकल्ल के रहने बाले केशवसिंह गुर्जर उर्फ बाबा की थी। बाबा किसानों की मटर थोक व्यापारी के यहां बिकवाने में मध्यस्थ की भूमिका निभाता था। मृतक के परिजनों ने थोक व्यापारी और उसके कतिपय साथियों के ऊपर हत्या का आरोप आयद करते हुये कोतवाली में तहरीर दी थी लेकिन उक्त मामले में हत्या का मुकदमा आज तक नहीं लिखा जाना हैरान करने बाला है। पोस्टमॉर्टम में मृतक का विसरा परीक्षण के लिये भेजा गया है। मृतक के भाई और मुकदमे के वादी इंद्रपालसिंह का आरोप है कि पुलिस मामले को टालने में लगी है।
कोतवाली क्षेत्र के ग्राम खकल्ल निवासी इंद्रपाल सिंह पुत्र कोकसिंह गुर्जर ने पुलिस को प्रार्थना पत्र देकर बताया था कि उसका बड़ा भाई केशवसिंह उर्फ बाबा पुत्र कोकसिंह किसानों की मटर बिकवाने में मध्यस्थ की भूमिका निभाता था और कोंच के आढतियों हसनखां, हनीफखां व बबलू की आढत पर माल तौलवाता था। बताते हैं कि इन आढतियों पर किसानों का लगभग चौदह लाख रुपया बकाया था जिसका तगादा केशवसिंह इनसे अक्सर करता रहता था लेकिन ये लोग कोई न कोई बहाना कर टरका देते थे, जबकि किसान केशवसिंह पर पैसा दिलाने के लिये दबाव बना रहे थे। गुजरी 17 फरवरी शुक्रवार को सुबह लगभग आठ बजे हसनखां व हनीफखां केशव के घर खकल्ल पहुंचे और केशव से कहा कि चलो आज पूरा पैसा दिलवा देंगे। इसके बाद केशव उनके साथ मोटर साइकिल पर कोंच चला गया। परिजनों की अगर मानें तो उस समय केशव के पास एक लाख बाईस हजार रुपया भी जेब में पड़ा था। इसके बाद केशव की लाश ही सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र कोंच में मिली थी। परिजनों के मुताबिक हसनखां व हनीफखां उसकी लाश सीएचसी में छोड़ कर भाग गये थे। परिजनों ने केशव की हत्या की आशंका जताई थी जिस पर शव को पोस्टमॉर्टम के लिये भेजा गया था। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट भी अब तक मृतक के परिजनों को नहीं उपलब्ध कराई गई है। पुलिस के मुताबिक मृतक का विसरा परीक्षण के लिये भेजा गया है। मंगलवार को कोतवाली पहुंचे मृतक के भाई इंद्रपाल ने आरोप लगाया है कि पुलिस मामले को टाल रही है और उसके भाई की हत्या की रिपोर्ट नहीं दर्ज कर रही है।

Share Button

ओवर लोड वाहनों की लापरवाही बन सकती है बड़े हादसे का कारण, गिटटी से भरा डंफर पलटा

27orai01Kउरई। प्रांतीय मार्ग पर गिटटी से भरा डम्फर सड़क पर गढढा आ जाने से पलट गया। गनीमत यह थी कि डम्फर के बगल से कोई वाहन नही निकल रहा था वरना उसमें बैठे लोगों का वाहन सहित चूरमा बनना तय था।
ओवर लोडिंग के खिलाफ पुलिस और परिवहन विभाग फेस सेविंग के लिए चालान करने का एक कोटा निर्धारित किये हुए है। इसके बावजूद ओवर लोडिंग पूरी तरह जारी है। बालू और गिटटी भार वाहनों में इतनी ज्यादा भरी जाती है कि डम्फर तक हिचकोले खाने लगता है। सोमवार को बहकती से हालत में औरैया चला जा रहा डम्फर जालौन के थोड़े आगे सड़क गढढा आ जाने के चलते ड्राइवर के ढंग से स्टेयरिंग न काट पाने की वजह से पलट गया। अन्य राहगीर वाहन तो इस प्रकोप से बच ही गये डम्फर के ड्राइवर और हेल्पर को भी कोई खास चोट नही आई है।

Share Button

अज्ञात युवकों ने सेल्समेन से रुपए छीने

Mono Krishna News Oraiजालौन। देशी शराब ठेका बंद कर रहे सेल्समैन से तमंचे की दम पर अज्ञात युवकों ने लगभग 2 हजार रूपए छीन लिए। पीड़ित सेल्समेन ने मामले की तहरीर कोतवाली में दी। पुलिस ने मामले की छानबीन शुरू की।
कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला रावतान निवासी सुनील कुमार ने पुलिस को बताया कि वह कोंच चौराहा स्थित देशी शराब ठेका नंबर 5 पर सेल्समेन है। रविवार की रात लगभग साढ़े 10 बजे जब वह शराब ठेके का बंद कर रहा था। तभी चार अज्ञात युवक वहां आ गए और उस पर फ्री में शराब देने का दबाव बनाने लगे। जब उसने शराब देने से मना किया तो उन्होंने तमंचा दिखाते हुए मारपीट शुरू कर दी। इसी बीच एक युवक ने उसकी जेब में पड़े लगभग 2 हजार रूपए छीन लिए। शोरगुल सुनकर जब तक आसपास के लोग वहां आते तब तक उक्त चारों युवक वहां से भाग निकले। पीड़ित सेल्समेन की तहरीर पर पुलिस ने मामले की छानबीन शुरू की।

Share Button

पशु पालक अपने पशुओं को अन्ना न छोड़ें -एसडीएम

Mono Krishna News Oraiजालौन। कोई भी किसान अपने खेतों में आरी वाले तारों के फेसिंग न कराए। इसके साथ ही पशु पालक भी अपने पशुओं को अन्ना न छोड़ें। यदि कोई किसान अथवा पशुपालक ऐसा करता हुआ पाया जाता है तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। यह बात एसडीएम व सीओ ने पत्रकारों से वार्ता के दौरान कही।

एसडीएम शीतला प्रसाद यादव व सीओ संजय कुमार शर्मा ने खेतों में आरी वाले तारों की फेसिंग कराने वाले किसानों व पशुपालकों को सख्त हिदायत देते हुए कहा है कि कोई भी किसान अपने खेतों में आरी वाले तार न लगवाऐं। यदि किसी किसान ने पहले से इन तारों को लगवा लिया है तो वह भी अपने खेतों से इन तारों को हटा लें। यदि किसी किसान के खेत में आरी वाले तार लगे हुए पाए जाते हैं, तो उसके खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी। इसके अलावा उन्होंने अपने पशुओं को अन्ना छोड़ने वाले पशुपालकों को भी सख्त चेतावनी देते हुए कहा है कि वह भी अपने-अपने पशुओं को घर पर ही बांध कर रखें। कोई भी पशुपालक अपने पशुओं को अन्ना न छोड़े। यदि किसी पशुपालक द्वारा अपने पशुओं को अन्ना छोड़े जाने की शिकायत मिलती है, तो उसके खिलाफ भी सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Share Button

खेतों से आरी वाले तारों की फेसिंग हटवाए जाने की मांग

Mono Krishna News Oraiजालौन। क्षेत्र में अन्ना पशुओं से बचने के लिए किसानों द्वारा आरी वाले तारों की फेसिंग कराने से घायल हो रहे पशुओं की समस्या को देखते हुए गौरक्षा दल के सदस्यों ने डीएम को ज्ञापन सौंपकर खेतों से आरी वाले तारों की फेसिंग हटवाए जाने की मांग की।
गौरक्षा दल के वीरेंद्र सिंह बिरहरा समेत अनिल शिवहरे, राजा सिंह सेंगर, लालन ताम्रकार, मनोज गुप्ता आदि ने डीएम संदीप कौर को ज्ञापन सौंपते हुए बताया कि क्षेत्र में अन्ना पशुओं की काफी समस्या है। अन्ना पशु खेतों में घुसकर फसलों को बर्बाद कर देते हैं। जिससे किसानों को काफी आर्थिक हानि उठानी पड़ती है। किसान रात भर खेतों में रहकर अन्ना पशुओं से खेतों की रखवाली कर रहे हैं। तो कई किसानों ने अन्ना जानवरों को खेतों में घुसने से बचाने के लिए अपने खेत के चारों ओर आरी वाले तारों की फेसिंग करा ली है। लेकिन इस तरह की तार फेसिंग में समस्या यह है कि जैसे ही कोई पशु इन तारों से होकर खेत में घुसने का प्रयास करता है तो इन तारों से टकराकर वह गंभीर रूप से घायल हो जाता है। प्रतिदिन कई पशु इन तारों से घायल हो रहे हैं। यदि उन्हें समय रहते सही उपचार न मिला तो उनकी मौत तक हो जाती है। ऐसे में तार फेसिंग में इन आरी वाले तारों का प्रयोग बंद कराया जाना चाहिए। ताकि पशु घायल न हो सकें।

Share Button