मऊरानीपुर से बड़ी खबर

  मऊरानीपुर से रवि परिहार की रिपोर्ट
युवक की संदिग्ध अवस्था में हुई मौत । मामला हत्या और आत्महत्या के बीच उलझा
 मऊरानीपुर -झाँसी-शुक्रवार की रात्रि ग्राम बसरिया में एक युवक की संदिग्ध अवस्था में हुई मौत की गुत्थी अचानक रविवार की सुबह को उलझती हुई देखने को मिली। जब मृतक के परिजनों ने युवक की हत्या हो जाना बताया। जानकारी के अनुसार शुक्रवार की रात्रि ग्राम बसरिया निवासी दशरथ पुत्र खरगाई को मृत अवस्था में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर लाया गया। और रात्रि को ही परिजनों ने दशरथ की मौत फांसी लगाकर आत्महत्या करना बताया था। पुलिस ने शव का पंचनामा भरवाकर पोस्टमार्टम करवाकर शव को परिजनों को सौंप दिया था। परिजनों द्वारा शव का दाह संस्कार कर दिया गया था। लेकिन रविवार की सुबह परिजनों ने दशरथ की मौत आत्महत्या न बताकर हत्या कर देने का मामला पुलिस को बताया। सूचना मिलते ही कोतवाली प्रभारी सत्यपाल सिंह पुलिस बल के साथ ग्राम बसरिया में पहुंचे जहां परिजनों ने युवक की हत्या पत्नी द्वारा किए जाने की बात पुलिस को बतायी। पुलिस ने पत्नी से बार-बार पूछताछ करने पर अलग-अलग बयान बदलती रही। कभी कहती रही कि गुड़ में मिलाकर जहर दिया था, तो कभी कहती की पानी में जहर मिलाकर तथा कभी गुटका ने जहर मिलाकर हत्या कर दी। महिला कभी हत्या करते समय अपने को अकेला बताती तो कभी अपने दो भाइयों व जीजा के साथ मिलकर हत्या करना बता रही है। जब पत्रकारों ने महिला को अकेले में ले जाकर उसे बचाने का लालच देकर पूछा तो उसने बताया कि उसका पति उससे लड़ाई झगड़ा करता था। तथा वह उसे पसंद नहीं करती थी पिछले सप्ताह वह अपने अपने मायके गई और अपने भाइयों को यह बात बताई तो उसके भाई शुक्रवार की रात्रि उसकी ससुराल आए और छिप गए जैसे ही रात्रि में दशरथ पलंग पर लेट कर सोने लगा तो वैसे ही मेरे भाइयों ने उसे जबरदस्ती पकड़कर गला दबाया जिससे उसका मुंह खुल गया उसके बाद भाइयों ने मूंगफली में छिड़काव करने वाली दवा उसके मुंह में डाल कर मुह व नाक बंद कर दी जिससे दवा पेट के अंदर चली गई। और वह तड़पते तड़पते हुए मर गया। मरने के बाद पत्नी ने दशरथ के भाइयों व चाचा को खबर दी थी दशरथ की तबीयत खराब हो गई। जिससे वह लोग सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मऊरानीपुर में लाए। जहां पर चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। परिजनों ने बताया कि मृतक की उम्र 30 वर्ष थी। वह फ़ॉर वे लाइन में उसकी जमीन जाने पर उसको सरकार से मुआवजा मिला था। मृतक की यह दूसरी पत्नी थी जिसकी शादी जीजा के द्वारा कराई गई थी। महिला के साथ 3 बच्चे भी रह रहे थे। जो उसके पहले पति के थे। मृतक की पहली पत्नी दशरथ को छोड़कर भाग गई थी। उसी एक बच्ची ने बताया कि मेरे मामाओ ने व मौसा ने मेरे पापा की हत्या करके भाग गए। आखिरकार पुलिस को मृतक के भाई व परिजनों को कोतवाली लाया गया जहां उनसे पूछताछ कर तहरीर देने की बात कही। समाचार लिखे जाने तक मुकदमा दर्ज नहीं हो सका था।
मतदाता सूची के सत्यापन कार्य का उपजिलाधिकारी ने किया शुभारम्भ
मऊरानीपुर-झाँसी-  मतदाता सूची के सत्यापन कार्य का उपजिलाधिकारी ने किया शुभारम्भ। निर्वाचन आयोग द्वारा दिये गए निर्देशों के अनुपालन में उपजिलाधिकारी द्वारा घर घर जाकर मतदाताओं के सत्यापन कार्य का शुभारंभ व लॉन्चिंग की गई। साथ ही बीएलओ को निर्देशित किया गया कि निर्धारित समय मे कार्य पूर्ण करे।
निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार मतदाता सूची का घर घर जाकर सत्यापन कार्य का उपजिलाधिकारी गुलाबचंद्र राम व तहसीलदार जगवीर सिंह के द्वारा लॉन्चिंग की गई। उपजिलाधिकारी ने बताया कि निर्वाचन आयोग द्वारा सभी को निर्देशित किया गया है। कि 1 सितम्बर से 30 सितम्बर तक सभी बीएलओ घर घर जाकर मतदाता सूची का सत्यापन करेगे। जिसमे जो 18 वर्ष की आयु के हो गए है। तथा जिनकी शादी हो गयी हो , व म्रतक ऐसे लोगो को चिन्हित उनके नाम जोड़े व हटाये जाए। जिसके लिए उन्हें निर्धारित समय मे कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिए गए। इस मौके पर नगर के सभी बीएलओ मौजूद रहे।।
टीम उम्मीद की रोशनी गरीब , असहाय व भूखे लोगो के लिए बन रही है नई किरण
मऊरानीपुर-झाँसी- टीम उम्मीद की रोशनी गरीब , असहाय व भूखे लोगो के लिए बन रही है नई किरण।
सच्ची समाज सेवा उसे नही कहते जिसे आज के लोगो ने तरीका बनाया हुआ है ।।जिससे कि बह अखवारों की सुर्खियों में बने रहे।।सच्ची समाज सेवा उसे कहते है जो भूखे को व जरूरत मंदो को भोजन कि व्यवस्था कर सके। ऐसी ही एक समाज सेवियो की टीम मउरानीपुर नगर में गरीवों व असहाय लोगो को भोजन वितरण करके अपना समाज सेवा धर्म निभा रही है।
 टीम उम्मीद रोशनी समाज सेवी  संस्था द्वारा  मउरानीपुर के आवासकालोनी,बजरिया,नगर पालिका ,नारायण टाकीज ,पी डब्लू डी ,सिविल हॉस्पिटल,रेलवे स्टेशन,गरौठा चौराहा आदि जगहों पर जरूरत मन्द लोगो को भोजन वितरित किया गया। युवाओं के इस कार्य भी प्रसंसा पूरे नगर में की जा रही है। जिस कार्य को सरकार व नेताओ को करना चाहिए। वह टीम  उम्मीद रोशनी के युवाओं द्वारा किया जा रहा है। जिसे सभी लोग अपने खर्चे ओर गरीबो को भोजन वितरण करने का कार्य कर रहे है।  इस मौके पर आकाश विश्वकर्मा,अंकित विश्वकर्मा,हर्ष पाटकर,अखिलेश विश्वकर्मा ,शिवम विलाटिया,विजय नामदेव,राजकुमार तिवारी,धीरेन्द्र झा,पुष्पेंद्र राजपूत,उमेश,सूर्य प्रताप बुंदेला,रणवीर सेन,विष्णु सेन,संजीव विरथरे,आदि लोग इस मुहिम में शामिल रहे।।
Share Button

बुंदेलखंड में योगी

विष्णु चंसौलिया की रिपोर्ट
 जनपद में मुख्यमंत्री के आगमन को लेकर संशय समाप्त। शासन द्वारा मुख्यमंत्री के आने का कार्यक्रम घोषित।

उरई (जालौन) जनपद में कई माह से प्रतीक्षित सूबे के मुखिया का कार्यक्रम शासन द्वारा प्राप्त होते ही संशय समाप्त हो गया।

प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का जनपद में आने का कार्यक्रम निश्चित हो गया है। मुख्यमंत्री जी 1 सितंबर को 1.25 बजे मध्याह्न लखनऊ से राजकीय हेलीकॉप्टर द्वारा पुलिस प्रशिक्षण केन्द्र मगरौल मे आगमन होगा। तत्पश्चात 1.30 बजे से 2.30 बजे तक पुलिस प्रशिक्षण विद्यालय भवन का उद्घाटन करेंगे। 2.30 बजे से 3 बजे तक का समय आरक्षित।

  मुख्यमंत्री जी 3.00 बजे से 4.30  बजे तक पुलिस प्रशिक्षण विद्यालय के सभागार में जनपद के अधिकारियों के साथ विकास कार्यों के साथ कानून व्यवस्था की समीक्षा बैठक करेंगे। समीक्षा बैठक के बाद मुख्यमंत्री वापिस राजकीय हेलीकॉप्टर द्वारा लखनऊ के लिए प्रस्थान करेंगे।
Share Button

कालपी में योगी

हरिश्चंद्र दीक्षित बापू व मनोज कुमार शिवहरे की रिपोर्ट: कालपी

कालपी (जालौन ) पुलिस प्रशिक्षण केन्द्र मंगरौल का उदघाटन करने आये प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ पुलिस प्रशिक्षुओं को मित्र पुलिस बनने  का  मंत्र दे गये।   मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें अंग्रेजो से मिली विरासत को फेंक उतारना है क्योंकि समय के साथ जो संस्था बदलाव नहीं करती उसके वजूद पर संकट खडा हो जाता है।

रविवार को क्षेत्र के ग्राम मंगरौल स्थित पुलिस प्रशिक्षण केन्द्र का उदघाटन दौरान कहा कि प्रशिक्षु ट्रेनिंग को महज ट्रेनिंग न समझे गुणवत्ता पर ध्यान दे। क्योंकि जितना ट्रेनिंग मे पसीना वहाओगे उतना युद्ध मे खून कम बहाना पडे़गा। इसके साथ उन्होने कहा कि हमे पुलिस के चेहरे को वदलना है जो अंग्रेजों के विरासत मे मिला है। इस लिए शिक्षण पर ईमानदारी व कर्तव्य के साथ अपने कर्तव्यों कि निर्वहन करे जिससे अपराधी भय खाये तथा जनता सुरक्षा का अहसास करे, इस दौरान उन्होंने यह भी कहा कि पुलिस मे बदलाव दिखने लगा है। जिसका उदाहरण गत वर्ष प्रयाग राज मे आयोजित कुम्भ मे देखने को मिला है। इसके बाद उपस्थिति जनप्रतिनिधियो व अधिकारियों के साथ बृक्षारोपण किया।

     उदघाटन दौरान डी जी पी आोमप्रकाश,अपर सचिव ग्रह अवनीश अवस्थी ,डी जी प्रशिक्षण सुजान वीर सिंह ,एडीजी प्रेम प्रकाश कानपुर जौन,डीआईजी प्रशिक्षण ड़ा संजय तर्वे, मण्डलाआयुक्त कुमुदलता  श्रीवास्तव,डीआईजी सुभाष वघेल,डीएम मन्नान अख्तर,पुलिस अधीक्षक डा. सतीश कुमार, प्रशिक्षण केन्द्र के पुलिस अधीक्षक राधेमोहन, अपर पुलिस अधीक्षक आनन्द कुमार,के अलावा सांसद भानु प्रताप, विधायक नरेन्द्र सिंह, विधायक गौरी शंकर,विधायक मूलचन्द्र निरंजन व जिला पंचायत अध्यक्ष सुमन निरंजन तथा एम एल सी रमा निरंजन के अलावा जिले के अनेक अधिकारी पुलिस अधिकारी मौजूद रहे।
Share Button

कृष्णा न्यूज़ की सफलता

कृष्णा न्यूज़ की सटीक खबरों से तथा आपके अपार स्नेह के बाद कृष्णा न्यूज़ एक और कदम कृष्णा मेल अब अखबार के रूप में भी अब आपके हाथो में

Share Button

विजयदशमी की हार्दिक शुभकामनायें

logo-krishannewsअपने सभी पाठकों, ईष्ट मित्रों, सहयोगियों, एवं शुभचिंतकों को कृष्णा न्यूज की ओर से ramविजयदशमी की हार्दिक शुभकामनायें।dashara

Share Button

हम फिर आपके साथ होंगे।

बेबसाइट की खराबी के कारण आज कृष्णा न्यूज आपका साथ नहीं दे पा रही है। आशा है आप क्षमा करेंगे।
समस्या के समाधान के साथ ही हम फिर आपके साथ होंगे।

Share Button

नहीं लेंगीं संध्या सुरेन्द्र मौखरी पर्चा बापस

22orai02
उरई। जिला पंचायत अध्यक्ष का चुनाव आज पर्चा बापसी के दिन और उलझ गया । सपा के दिग्गजों की कोई कोर-कसर नहीं
छोड़ने के बाद भी आज भी संध्या सुरेन्द्र मौखरी ने अभी तक पर्चा बापस नहीं लिया है। विश्वस्त सूत्रों से छन-छन कर आ रही
खबरों के अनुसार संध्या सुरेन्द्र मौखरी ने अभी तक पर्चा बापस नहीं लिया और न ही लेंगी। उनका अभी तक विचार कड़ा मुकाबला
करने का है। हालांकी सुरेन्द्र मौखरी का यह फैसला जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव के सारे समीकरणों को बदल देगा और सपा
के नव नियुक्त अध्यक्ष इन्द्रजीत सिंह के साथ-साथ सपा के दिग्गजों के लिये बड़ी चुनौती है।

Share Button

नहीं लेंगीं संध्या सुरेन्द्र मौखरी पर्चा बापस

22orai02उरई। जिला पंचायत अध्यक्ष का चुनाव आज पर्चा बापसी के दिन और
उलझ गया । सपा के दिग्गजों की कोई कोर-कसर नहीं
छोड़ने के बाद भी आज भी संध्या सुरेन्द्र मौखरी ने अभी तक पर्चा बापस नहीं लिया है। विश्वस्त सूत्रों से छन-छन कर आ रही
खबरों के अनुसार संध्या सुरेन्द्र मौखरी ने 23orai01Mअभी तक पर्चा बापस नहीं लिया और न ही लेंगी। उनका अभी तक विचार कड़ा मुकाबला
करने का है। हालांकी सुरेन्द्र मौखरी का यह फैसला जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव के सारे समीकरणों को बदल देगा और सपा
के नव नियुक्त अध्यक्ष इन्द्रजीत सिंह के साथ-साथ सपा के दिग्गजों के लिये बड़ी चुनौती है।

Share Button

कृष्णा न्यूज उरई की श्री कृष्ण जन्माष्टमी पर आपको हार्दिक शुभकामनायें एवं बधाई

kanhya 2016

Share Button

केन्द्र सरकार से एक प्रश्न क्या बन सकते हैं एक व्यक्ति के दो आधार अगर नही तो कैसे बने ?

img142 copyaaaaaaaaaaaaaaaaaa0 क्या यही है आम आदमी का अधिकार-एक व्यक्ति दो आधार
0 आधार की विश्वसनीयता निराधार कार्यदायी संस्था कटघरे में
उरई । एक लम्बा समय हुआ जा रहा है जबसे हम बराबर सुन रहे हैं आपने भी सुना होेगा आधारकार्ड
इसके बाद आरम्भ हुआ आधार कार्ड के बनने का क्रियान्वयन । गाँव-गाँव और शहर के मुहल्लों मुहल्लों में
कैम्प लगाकर आधार कार्ड बनाये गये लोगों ने 5-5 और 6-6 घन्टे लाइनों में लगकर अपने आधार कार्ड
बनवाने के लिये आधार कार्ड बनने की प्रक्रिया में अपना सहयोग दिया ।
आधार कार्ड बनने की प्रक्रिया प्रारम्भ होने के पहले से ही आधार कार्ड, आधार कार्ड की अनिवार्यता
आधार कार्ड की उपयोगिता के साथ-साथ आधार कार्ड की विश्वसनीयता का ढिंढोरा पीटा गया इसके बाद
उन कैम्पों में जिनमें आम आदमी अपना काम धन्धा छोड़कर पूरा दिन आधार कार्ड को समर्पित कर दिया
उनमें से कितने आधार कार्ड डाक द्वारा लोगों के पास पहुंचे उसका हाल सबको मालूम ही होगा लोंगों ने
कई कई बार बनवाकर जैसे तैसे एक आधार कार्ड वो भी आॅनलाइन प्राप्त कर पाया उस पर भी तमाम
लोगों का कहना है कि आधार कार्ड की जरूरत पर जैसे की मोबाइल सिम लेने के लिये आवेदन किया
तो रिलायंश कम्पनी का जियो प्लान में आॅनलाइल आधार कार्ड को अमान्य करार कर दिया है । डाक
द्वारा प्राप्त नहीं हुआ आन लाइन मान्य नहीं है अब आम आदमी क्या करे ?
जहां तक उपयोगिता की बात है वह निश्चित तौर पर आम आदमी को समझ में आ गयी है कोई भी काम हो
आपको अपना आय, जाति, निवास प्रमाण पत्र बनवाना हो पेन कार्ड बनवाना होे बैंक में खाता खोलना हो,
मोबाइल या टेलीफोन का कनेक्शन करवाना हो आदि छोटे से छोटे और बड़े से बड़े कार्य के लिये एकमात्र
आधार कार्ड ही एक ऐसा आधार होता है जिसके आधार पर सरकारी गैर सरकारी सभी कार्य होते चले जातेे हैं ।
अब आती है बात आधार कार्ड की विश्वसनीयता की तो जहां तक हमारी बात है तो आज तक हमारा यही
खयाल था कि भारत सरकार ने आधार कार्ड के रूप में भारतीय जनता को एक ऐसा पहचान चिन्ह दे दिया
है जिसकी विश्वसनीयता पर किसी प्रकार की कोई शंका निराधार है ऐसा सोचा जाता था आधार कार्ड में
किसी भी तरह की अनियमता की कोई गुंजाइस नहीं है किन्तु हमें अनायास ही एक नाम एक जन्म तिथि
एक स्थान एक पिता और एक पता से बने दो ऐसे आधार कार्ड मिले हैं जिनमें एक ही विवरण के किन्तु
अलग अलग आधार क्रमांक तथा अलग अलग नामांकन क्रमांक अलग-अलग तारीखें हैं अब हम नहीं कह
सकते कि एक ही व्यक्ति के ये दो आधार कार्ड किस प्रकार भूलवश, लापरवाही अथवा……. से बने हैं अब
अगर एक ही व्यक्ति के यह दो आधार कार्ड हमारे सामने हैं जो डाक द्वारा प्राप्त हुये हैं तो इसमें यह
कहना कठिन है कि कितने और आधार कार्डों में समूचे भारत में ऐसी कितनी भूलें हुईं हांेगीं इसका

Share Button

भेजिये अपनी रचना हमारे gmail [email protected] खोलिये कृष्णा न्यूज और पढ़ें व पढ़ायें अपनी बात

भेजिये अपनी रचना हमारे gmail  [email protected]  खोलिये कृष्णा न्यूज और पढ़ें व पढ़ायें अपनी बात साहित्य कविता, शायरी, गजल, लेख, लघु कथा, मनोरंजन- स्तरीय चुटकले, हास्य, व्यंग्य, मन की बात, आंखों देखी, बात जो मन में खटकी आदि तो फिर खोलिये हमारा gmail  [email protected] और भेजिये अपनी रचना हम उसे प्रकाशित करेंगे
आपके नाम से ।

Share Button